DA Image
27 मई, 2020|11:54|IST

अगली स्टोरी

गैरी कस्टर्न ने बताया अच्छा कोच बनने के लिए क्या है जरूरी

Gary Kirsten (Agencies)

अपनी कोचिंग में भारतीय टीम को विश्व कप-2011 का खिताब दिलाने वाले दक्षिण अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज गैरी कस्टर्न ने कहा है कि कोचिंग एक नेतृत्व करने वाला पद है, जिसके लिए इस बात की गहरी समीक्षा होनी चाहिए कि टीम और खिलाड़ी आगे कैसे बढ़ सकते हैं और उनको इसके लिए किस तरह का माहौल चाहिए। गैरी भारत के अलावा दक्षिण अफ्रीका टीम के भी कोच रहे चुके हैं।

2015 WC INDvPAK: 'खाना खा रहा था, जब धोनी आए बोले- तैयार हो जाओ'

कर्स्टन ने कहा, 'कोच को काफी सारी स्किल्स आनी चाहिए जो उसे एक पेशेवर टीम को हर विभाग में पूरी तरह से देखने का मौका दें।' उन्होंने कहा, 'इसमें सेशन और टूर्नामेंट्स की तैयारी, मैन-मैनेजमेंट, टीम कल्चर बनाना, संबंध बनाना, चयन, रणनीति और सपोर्ट स्टाफ, अभ्यास, ट्रेनिंग सुविधा, मीडिया, जैसी चीजें शामिल हैं जो एक टीम को उच्च स्तर पर अच्छा करने वाली पेशेवर टीम बनाती है।'

2 मिनट में रैना के 19 Stunning स्लिप कैच, फैन ने बनाया धांसू वीडियो

52 साल के इस कोच ने कहा, 'कोच को टीम में मौजूद हर तरह के खिलाड़ियों को सफलतापूर्वक संभालना आना चाहिए ताकि हर खिलाड़ी को आगे बढ़ने का मौका मिले। कोच पर टीम में ऐसा माहौल बनाने की जिम्मेदारी होती है जिससे उच्च स्तर का प्रदर्शन निकल सके। कोच पर टीम की सफलता की जिम्मेदारी होती है सिर्फ खिलाड़ियों की नहीं।'
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Gary Kirsten Explains Skills Required To Be A Good Coach