DA Image
4 अगस्त, 2020|8:21|IST

अगली स्टोरी

आईपीएल SOP में मानसिक स्वास्थ्य जागरुकता हेल्पलाइन से फ्रैंचाइजी को ऐतराज नहीं

ipl  photo by faheem hussain sportzpics

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) कोविड-19 महामारी के कारण इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आयोजन को लेकर खिलाड़ियों और सहयोगी सदस्यों के लिए मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता हेल्पलाइन पर चर्चा कर रहा, जिसमें जैव-सुरक्षित माहौल में कई सप्ताह तक रहने से जुड़ी चुनौतियों के बारे में बताया जाएगा। हेल्पलाइन नंबर शुरू करने पर अगर बात बनती है तो बोर्ड इसे 19 सितंबर से यूएई (संयुक्त अरब अमीरात) में शुरू होने वाले 13वें सत्र के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का हिस्सा बना सकता है।

अगर जरूरत पड़ी तो ऐसी हेल्पलाइन उन्हें (खिलाड़ी, सहयोगी सदस्य) तनाव और चिंता से बेहतर तरीके से निपटने में मदद कर सकती हैं। बीसीसीआई रविवार को संचालन समिति की बैठक के बाद सभी आठ फ्रैंचाइजी के लिए एक व्यापक एसओपी जारी करने के लिए तैयार है, जहां अंतिम कार्यक्रम पर मुहर लगेगी।

IPL 2020 के यूएई आयोजन को लेकर उठ रहे हैं कुछ ऐसे सवाल

कुछ फ्रैंचाइजी द्वारा लंबे समय तक परिवारों से दूर रहने के दबाव के बारे में यह सवाल उठाया गया है। बीसीसीआई इस बैठक में इस मुद्दे का कोई हल निकाल सकता है। इसकी जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई-भाषा से कहा, '' बीसीसीआई की एसओपी में खिलाड़ियों और सहायक कर्मचारियों के लिए चिकित्सा सुविधाओं का पूरा विवरण होने की संभावना है। यह उम्मीद की जाती है कि एक हेल्पलाइन होगी जहां खिलाड़ी तनाव और चिंता महसूस करने की स्थिति में मदद ले सकते हैं। विशेषज्ञ की ऐसी मदद सबके लिए होगी।

एक फ्रैंचाइजी टीम के अधिकारी ने कहा, ''अगर बीसीसीआई के पास मानसिक स्वास्थ्य से निपटने के लिए हेल्पलाइन है, तो यह एक स्वागत योग्य और सही दिशा में उठाया गया कदम है। यह समय की जरूरत है।'' कोरोना वायरस की जांच को लेकर हालांकि अभी तक स्थिति साफ नहीं है। उम्मीद है कि ज्यादातर टीमें दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु और चेन्नई में अपने खिलाड़ियों की जांच करवायेगी जहां से वे यूएई के लिए उड़ान भरेंगे।

शिखर धवन ने शुरू की आउटडोर ट्रेनिंग, IPL 2020 से पहले नेट पर बहाया पसीना- VIDEO

एक फ्रैंचाइजी ने बताया कि वह खिलाड़ियों की जांच के लिए चिकित्सा कर्मियों को उनके घर भेजने की योजना बना रहा है। बीसीसीआई के एक अन्य सूत्र ने कहा, ''मुंबई जैसे कुछ शहरों में खिलाड़ियों को व्यक्तिगत परीक्षण करने जाने पर खतरे का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए एक फ्रैंचाइजी ने फैसला किया है कि खिलाड़ी के गृह शहर में ही जांच करवाने के बाद जहां से दुबई प्रस्थान करना है वहां बुलाया जाए।''

मीडिया कवरेज को लेकर अभी कोई स्पष्टता नहीं है। अधिकारी ने कहा, ''खिलाड़ी चार्टर्ड फ्लाइट से यात्रा करेंगे, लेकिन फिलहाल मीडिया के लिए कोई योजना नहीं है। जब तक भारत से विदेशों के लिए वाणिज्यिक उड़ान शुरू नहीं होती तब तक इसकी संभावना कम है कि वहां मीडिया की पहुंच होगी।''

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Franchises wont mind Mental health awareness helpline in IPL SOP