DA Image
7 अप्रैल, 2020|6:33|IST

अगली स्टोरी

पूर्व पाक कप्तान इंजमाम उल हक ने बांधे सचिन की तारीफों के पुल, कहा- देखता हूं कौन तोड़ता है उनके रिकॉर्ड्स

1989 में सचिन के पाकिस्तान के खिलाफ डेब्यू को याद करते हुए इंजमाम ने कहा सचिन ने दुनिया के महान स्पिनर अब्दुल कादिर के एक ओवर में चार छक्के लगाए। यह आसान नहीं था।

former pakistan captain inzamam-ul-haq heaped praise on   sachin tendulkar screen grab

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेट कप्तान इंजमाम उल हक ने कहा है कि उन्हें इंतजार है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने के सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड को कौन बल्लेबाज तोड़ता है। सचिन ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 664 मैचों में कुल 34,357 रन बनाए हैं। सचिन ने अपने करियर में 200 टेस्ट और 463 वनडे के अलावा एक टी-20 अंतरराष्ट्रीय भी खेला था। इंजमाम उल हक ने सचिन तेंदुलकर के वनडे में ऐतिहासिक दोहरे शतक की 10वीं सालगिरह पर कहा कि उन्होंने सचिन जैसा क्रिकेटर कभी नहीं देखा। सचिन वनडे में दोहरा शतक लगाने वाले पहले खिलाड़ी थे।

सचिन ने 24 फरवरी 2010 को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यह दोहरा शतक लगाया था। इंजमाम ने तेंदुलकर की तारीफ करते हुए कहा कि सचिन एवर ग्रेट क्रिकेटर हैं। अपने यूट्यूब चैनल पर इंजमाम ने कहा, ''वह क्रिकेट के लिए ही पैदा हुए। सचिन के बारे में यही कहा जा सकता है कि क्रिकेट में ही उनका विश्वास था और दोनों एक-दूसरे के लिए बने थे।''

इंजमाम ने सचिन को महान बताते हुए उनकी कुछ खूबियों पर कहा, ''वह दुनिया के किसी भी बेस्ट गेंदबाज को खेल सकते थे। मुझे आज भी आश्चर्य होता है कि 16-17 साल की उम्र में सचिन ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया। यह तभी संभव है जब आप असाधारण प्रतिभा के धनी हों।''

Asia XI vs World XI: बीसीबी ने घोषित की एशिया XI टीम, विराट समेत 6 भारतीय शामिल

1989 में सचिन के पाकिस्तान के खिलाफ डेब्यू को याद करते हुए इंजमाम ने कहा सचिन ने दुनिया के महान स्पिनर अब्दुल कादिर के एक ओवर में चार छक्के लगाए। यह आसान नहीं था खासकर तब जब वे वकार यूनुस और वसीम अकरम जैसे गेंदबाजों के सामने डेब्यू कर रहे थे। इस गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ सचिन ने जैसा खेला वह चमत्कारी है। सचिन दुनिया के एकमात्र ऐसे क्रिकेटर हैं, जिन्होंने 200 टेस्ट खेले और रिकॉर्ड 15921 रन बनाए। उनका औसत 53.79 सर्वाधिक है। सचिन ने 463 वनडे में 18426 रन बनाए। सचिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक बनाने वाले एकमात्र बल्लेबाज हैं। 

इंजमाम को सचिन की दूसरी बड़ी क्वॉलिटी लगती है लगातार रन बनाना और रिकॉर्ड तोड़ना। उन्होंने कहा, ''सचिन की दूसरी क्वॉलिटी उनके रिकॉर्ड्स हैं। उस दौर में इतने रन बनाने की परंपरा नहीं थी। महान खिलाड़ी भी आठ-साढ़े आठ हजार रन बनाया करते थे। सुनील गावस्कर पहले ऐसे खिलाड़ी थे, जिन्होंने 10 हजार रन बनाए। सचिन ने सभी रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए। अब देखना है सचिन के रिकॉर्ड कौन तोड़ता है।''

38 साल के धोनी ने जिम में किया हैरतअंगेज स्टंट, VIDEO देख हैरान हुए फैंस

इंजमाम ने कहा कि सचिन की सबसे बड़ी ताकत थी उनकी मानसिक मजबूती, क्योंकि जब भी वह बल्लेबाजी के लिए आए उन पर दबाव होता था। उन्होंने कहा, ''मैंने सचिन जैसी फैन फॉलोइंग किसी अन्य खिलाड़ी की नहीं देखी।'' इंजमाम ने कहा कि सचिन की गेंदबाजी उनके जीनियस होने का एक अन्य प्रमाण है। 

उन्होंने कहा, ''वह इतने जीनियस क्रिकेटर थे कि लेग स्पिन, ऑफ स्पिन और मीडियम पेस हर तरह के गेंद फेंक सकते थे। मुझे नहीं लगता कि तेंदुलकर जैसा कोई दूसरा खिलाड़ी होगा। शायद ही भविष्य में कोई ऐसा खिलाड़ी हो जो उनसे अधिक रन बना सके।'' 

इंजमाम ने कहा, ''सचिन को क्रिकेट से कभी संन्यास नहीं लेना चाहिए था। उन्हें लगातार खेलते रहना चाहिए था। उन्हें खेलते हुए देखना परम आनंद प्राप्त करना था।'' बता दें कि सचिन ने 2013 में वानखेड़े स्टेडियम में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट खेलने के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:former pakistan captain Inzamam ul Haq gives reasons why there has never been a cricketer like sachinTendulkar watch video