DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   क्रिकेट  ›  भारत के महान क्रिकेटर वीनू मांकड़ को आईसीसी हॉल ऑफ फेम में किया गया शामिल
क्रिकेट

भारत के महान क्रिकेटर वीनू मांकड़ को आईसीसी हॉल ऑफ फेम में किया गया शामिल

लाइव हिंदुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Hemraj Chauhan
Sun, 13 Jun 2021 07:14 PM
भारत के महान क्रिकेटर वीनू मांकड़ को आईसीसी हॉल ऑफ फेम में किया गया शामिल

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल(आईसीसी) ने रविवार को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप से पहले आईसीसी हॉल ऑफ फेम में 10 खिलाड़ियों को शामिल किया। इन 10 क्रिकेटरों ने टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में अभूतपूर्व योगदान दिया है। इन 10 खिलाड़ियों के शामिल होने के साथ ही इस प्रतिष्ठित सूची में शामिल होने वाले क्रिकेटरों की संख्या 103 हो जाएगी। भारत के लेफ्ट आर्म स्पिनर वीनू  मांकड़ को इसमें जगह दी गई है। इसमें पांच युगों के 10 खिलाड़ियों को शामिल किया गया है।

वीनू मांकड़ को दो वर्ल्ड वार के बाद के युग के लिए चुना गया है। ये युग 1946 से लेकर 1970 तक का है। वीनू मांकड़ के अलावा इंग्लैंड के टेड डेक्सटर को भी इस युग के दौरान आईसीसी हॉल ऑफ फेम की लिस्ट में शामिल किया गया है। वीनू मांकड़ की बात करें तो उन्होंने 44 टेस्ट मैच खेले। इसमें मांकड़ ने 31.47 की औसत से 2,109 रन बनाए। उन्होंने 44 टेस्ट मैचों में 32.32 की औसत से 162 विकेट चटकाए। वो 
बांए हाथ के स्पिनर थे और उनकी गिनती भारत के महान ऑलराउंडरों में होती है। 

श्रीलंका के पूर्व बल्लेबाज कुमार संगाकारा हुए आईसीसी हॉल ऑफ फेम में शामिल

साल 1952 में लॉर्ड्स में वीनू मांकड़ ने इंग्लैंड के खिलाफ 72 और 184 रन बनाए। इसके अलावा उन्होंने इस मैच में 97 ओवर डाले। वो टेस्ट क्रिकेट में हर नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले तीन क्रिकेटरों में से एक हैं। मांकड़ ने बाद में भारत के महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर को कोचिंग दी। सुनील गावस्कर पहले से ही आईसीसी की हॉल ऑफ फेम लिस्ट में शामिल हैं।

जिन पांच युगों के दो-दो खिलाड़ियों को हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया, उन युगों में शुरुआती क्रिकेट युग (1918 से पहले), दो विश्व युद्ध के दौरान का युग (1918-1945), युद्ध के बाद का युग (1946-1970), वनडे युग (1971-1995) और आधुनिक युग (1996-2016) शामिल हैं।  गुरुवार को क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था ने आईसीसी हॉल ऑफ फेम के विशेष संस्करण की घोषणा करने का ऐलान किया था। 

संबंधित खबरें