DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   क्रिकेट  ›  टेस्ट क्रिकेट में रुचि बढ़ाने के लिए गौतम गंभीर ने दिया टॉस खत्म करने का फॉर्मूला, बोले- मेहमान टीम को मिले ये अधिकार
क्रिकेट

टेस्ट क्रिकेट में रुचि बढ़ाने के लिए गौतम गंभीर ने दिया टॉस खत्म करने का फॉर्मूला, बोले- मेहमान टीम को मिले ये अधिकार

लाइव हिंदुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Hemraj Chauhan
Thu, 17 Jun 2021 05:05 PM
टेस्ट क्रिकेट में रुचि बढ़ाने के लिए गौतम गंभीर ने दिया टॉस खत्म करने का फॉर्मूला, बोले- मेहमान टीम को मिले ये अधिकार

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने टेस्ट मैचों में  रुचि बढ़ाने के लिए टॉस खत्म करने का फॉर्मूला दिया है। वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल से पहले गंभीर ने ये बयान दिया है। उन्होंने कहा कि टेस्ट क्रिकेट में रुचि बढ़ानी है तो टॉस को खत्म करना होगा। आईसीसी ने टेस्ट क्रिकेट में लोगों की रुचि बढ़ाने के लिए वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत की। 2019 में शुरू हुई वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप अपनी अंतिम स्टेज में पहुंच गई है। 18 जून से भारत और न्यूजीलैंड के बीच डब्ल्यूटीसी का फाइनल साउथम्प्टन के एजिस बाउल स्टेडियम में खेला जाएगा। 

आज तक के मेगा क्रिकेट कॉन्क्लेव इ सलाम क्रिकेट 2021 में गंभीर ने कहा, 'अगर टेस्ट मैच में रुचि बढ़ानी है तो टॉस को खत्म करना होगा। इससे घरेलू टीम को जो फायदा होता है वो खत्म होगा। क्योंकि हर टीम अपने घर में तो जीत ही जाती हैं।' पिछले 5 साल में देखें तो हम इंडिया मे तो जीते लेकिन इंग्लैंड में हारे। यही हाल इंग्लैंड का भी है। वो घर में जीतती है लेकिन इंडिया में हारती है। इससे पता चलता है कि कोई भी वर्ल्ड चैंपियन नहीं है। ये वो ऑस्ट्रेलियन टीम नहीं है जो हर कंडीशन्स में जीतती थी।'

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए आकाश चोपड़ा ने चुनी भारत की प्लेइंग XI, मोहम्मद सिराज को किया बाहर

गंभीर ने आगे कहा कि टॉस खत्म होने से हम बेहतर विकेट तैयार कर पाएंगे। मेहमान टीम से ये पूछा जाए कि वो पहले बल्लेबाजी करेगी या गेंदबाजी। इससे बेहतर क्रिकेट देखने को मिलेगा। क्या पता फिर इंग्लैंड उतनी घास नहीं छोड़ पाए। भारत में टर्निंग ट्रैक नहीं बन पाए। उन्होंने वर्ल्ड कप से वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की तुलना पर कहा दोनों की तुलना करना सही नहीं होगा। क्योंकि ये हर साल होने वाली है और वर्ल्ड कप 4 साल में एक बार होता है।  डब्ल्यूटीसी के फाइनल पर उन्होंने कहा कि जो भी अच्छा खेले वो जीते। उन्होंने कहा कि टीम इंडिया को ज्यादा दबाव नहीं लेना चाहिए। ये चैंपियनशिप फिर से शुरू होगी। 

संबंधित खबरें