फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटटीम इंडिया की हार पर तिलमिला उठे पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद, कहा- बेकार की सीरीज जीतने के अलावा किया क्या है

टीम इंडिया की हार पर तिलमिला उठे पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद, कहा- बेकार की सीरीज जीतने के अलावा किया क्या है

टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद ने बांग्लादेश के खिलाफ लगातार दो वनडे इंटरनेशनल मैच गंवाने के बाद टीम इंडिया की जमकर क्लास लगाई है। साथ ही कहा कि टीम गलतियों से सीख नहीं ले रही है।

टीम इंडिया की हार पर तिलमिला उठे पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद, कहा- बेकार की सीरीज जीतने के अलावा किया क्या है
Namita Shuklaलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीThu, 08 Dec 2022 03:16 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद ने बांग्लादेश के खिलाफ लगातार दूसरी हार के बाद टीम इंडिया को जमकर कोसा है। प्रसाद ने साथ ही टीम मैनेजमेंट पर भी सवाल खड़े किए हैं। बांग्लादेश से सीरीज गंवाने से पहले टीम इंडिया न्यूजीलैंड में भी इस फॉर्मेट में सीरीज गंवाकर आई है। भारतीय टीम ने 2013 के बाद से आईसीसी का कोई खिताब नहीं जीता है।

रोहित की चोट कितनी सीरियस थी? कैसे की बैटिंग, राहुल ने दी हर एक डिटेल

प्रसाद ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, 'दुनिया भर में भारत इतने क्षेत्रों में नई पहल कर रहा है लेकिन सीमित ओवरों के क्रिकेट में हमारी रणनीति बरसों पुरानी है।' उन्होंने कहा, 'इंग्लैंड ने 2015 वर्ल्ड कप में पहले दौर से बाहर होने के बाद कठिन फैसले लिए और आज इतनी शानदार टीम बन गई है। भारत को भी कड़े फैसले लेने होंगे और सोच बदलनी होगी। आईपीएल शुरू होने के बाद से हम एक भी टी20 वर्ल्ड कप नहीं जीत सके और पिछले पांच साल में बेमानी द्विपक्षीय सीरीज जीतने के सिवाय वनडे में भी कुछ खास नहीं किया है।'

क्रिप्टोस से भी तेज गिर रही है... टीम इंडिया पर निकला वीरू का गुस्सा

उन्होंने कहा, 'लंबे समय से अपनी गलतियों से सबक नहीं लिया है और वनडे क्रिकेट में कुछ खास नहीं कर पा रहे। बदलाव जरूरी है।' टीम इंडिया को अगले साल होम ग्राउंड पर आईसीसी वर्ल्ड कप भी खेलना है ऐसे में इस मेगा इवेंट से पहले टीम मैनेजमेंट को कई सवालों के जवाब ढूंढने की जरूरत है।

लेटेस्ट Cricket News, Cricket Live Score, Cricket Schedule और T20 World Cup की खबरों को पढ़ने के लिए Live Hindustan AppLive Hindustan App डाउनलोड करें।