फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटसरफराज खान के सिलेक्शन नहीं होने पर भड़के पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद, कहा- डोमेस्टिक क्रिकेट को गाली है ये

सरफराज खान के सिलेक्शन नहीं होने पर भड़के पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद, कहा- डोमेस्टिक क्रिकेट को गाली है ये

सरफराज खान ने रणजी ट्रॉफी में दिल्ली के खिलाफ पहले दिन 125 रनों की दमदार पारी खेली। इस पारी के बाद टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद ने सिलेक्शन कमिटी को जमकर खरीखोटी सुनाई है।

सरफराज खान के सिलेक्शन नहीं होने पर भड़के पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद, कहा- डोमेस्टिक क्रिकेट को गाली है ये
Namita Shuklaलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीWed, 18 Jan 2023 12:05 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद ने सरफराज खान को लेकर ऐसा ट्वीट किया है, जो खूब वायरल हो रहा है। सरफराज खान लगातार डोमेस्टिक क्रिकेट में दमदार प्रदर्शन करने के बावजूद टीम इंडिया में जगह नहीं बना पा रहे हैं। रणजी ट्रॉफी में दिल्ली के खिलाफ मुंबई की ओर से मैच के पहले दिन 17 जनवरी को सरफराज ने 125 रनों की अहम पारी खेली। मुश्किल परिस्थितियों में सरफराज की यह पारी मुंबई के लिए बहुत अहम साबित हुई। सरफराज की इस पारी के दम पर ही मुंबई की टीम 293 रनों के स्कोर तक पहुंच पाई। हाल ही में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की ऑल इंडिया सिलेक्शन कमिटी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले दो मैचों के लिए भारतीय स्क्वॉड का ऐलान किया था। ऐसा माना जा रहा था कि सरफराज को टीम में शामिल किया जा सकता है, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। सरफराज के टीम इंडिया में सिलेक्शन नहीं होने को लेकर वेंकटेश प्रसाद ने तीखी प्रतिक्रिया दी।

वेंकटेश प्रसाद ने सरफराज के सेंचुरी का वीडियो शेयर करते हुए लिखा, 'तीन लगातार ब्लॉकबस्टर डोमेस्टिक सीजन के बावजूद सरफराज खान का भारतीय टेस्ट टीम में नहीं होना, सिर्फ उनके साथ नाइंसाफी नहीं, बल्कि यह डोमेस्टिक क्रिकेट के लिए गाली है। ऐसा लग रहा है कि इस प्लैटफॉर्म का कोई मतलब ही नहीं है। ये रन बनाने के लिए वह फिट है और जहां तक वजन की बात है, तो इस वजन के और भी कई खिलाड़ी हैं।'

मुंबई की ओर से सरफराज खान बेस्ट स्कोरर रहे। उन्होंने 155 गेंदों पर 16 चौकों और चार छक्कों की मदद से 125 रन बनाए। उनके अलावा कोई और बल्लेबाज तो 50 रनों के आंकड़े तक भी नहीं पहुंच पाया। पृथ्वी शॉ ने 40 रन बनाए, जो सेकेंड बेस्ट स्कोरर रहे।