DA Image
हिंदी न्यूज़ › क्रिकेट › 'जेम्स एंडरसन-स्टुअर्ट ब्रॉड ने साबित कर दिया कि उम्र महज एक संख्या है'
क्रिकेट

'जेम्स एंडरसन-स्टुअर्ट ब्रॉड ने साबित कर दिया कि उम्र महज एक संख्या है'

एजेंसी,नई दिल्लीPublished By: Mohan Kumar
Sun, 26 Jul 2020 08:40 PM
'जेम्स एंडरसन-स्टुअर्ट ब्रॉड ने साबित कर दिया कि उम्र महज एक संख्या है'

इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटरों का मानना है कि अनुभवी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड ने एक दूसरे का अच्छा साथ दिया है और इतने सालों में उनके प्रदर्शन ने साबित किया है कि उम्र सिर्फ एक संख्या है। एंडरसन और ब्रॉड दोनों की उम्र 34 साल से अधिक है लेकिन इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलेक स्टीवर्ट का मानना है कि जब तक संभव हो इन दोनों को राष्ट्रीय टीम के लिए एक साथ खेलना चाहिए। स्काई स्पोर्ट्स के 'क्रिकेट डिबेट' पर स्टीवर्ट ने कहा कि ब्रॉड और एंडरसन को बाहर हो जाना चाहिए या नहीं या क्या वे एक साथ खेल सकते हैं, इस पर काफी कहा और लिखा गया।

उन्होंने कहा कि उन्होंने दिखा दिया है कि भूल जाइए कि उनकी उम्र क्या है और उनके जन्म प्रमाण पत्र क्या कहते हैं। अगर आप अच्छे हैं तो उम्र मायने नहीं रखती। स्टीवर्ट ने कहा कि मैं भविष्य के बारे में सोचने की सराहना करता हूं लेकिन ब्रॉड और एंडरसन जब भी नई गेंद थामते हैं तो दिखा देते हैं कि वे किसी के भी जितने अच्छे हैं और उन्होंने अपनी क्षमता दिखाई। इंग्लैंड ने 34 साल के ब्रॉड को साउथम्पटन में पहले टेस्ट की टीम में जगह नहीं दी जिसे वेस्टइंडीज ने जीता। दूसरे टेस्ट में 37 साल के एंडरसन को आराम दिया गया।

UAE में 3 स्टेडियम में IPL से एसीयू का काम थोड़ा आसान होगा: अजीत सिंह

सीरीज के तीसरे और निर्णायक टेस्ट में दोनों को एक साथ उतारा गया और दोनों ने प्रभाव छोड़ा। इंग्लैंड के पूर्व तेज गेंदबाज डोमीनिक कॉर्क स्टीवर्ट से सहमत हैं और उनका कहना है कि एंडरसन और ब्रॉड की गेंदबाजी की अलग शैली टीम के लिए अच्छी है। इंग्लैंड के लिए 37 टेस्ट में 131 विकेट चटकाने वाले 48 साल के कॉर्क ने कहा कि मैं समझ सकता हूं कि लगातार टेस्ट हो रहे हैं और इंग्लैंड सुनिश्चित करना चाहता है कि वे (एंडरसन और ब्रॉड) अधिकतर मैच खेलें।

उन्होंने कहा कि वे दोनों मिलकर एक हजार टेस्ट विकेट चटकाने के करीब हैं और अपनी अलग अलग गेंदबाजी शैली से एक दूसरे का अच्छा साथ देते हैं। जब तक वे दोनों फिट हैं और खेलना चाहते हैं तो मेरे लिए वे प्रत्येक टेस्ट खेलेंगे। अगर चोट को लेकर कोई चिंता है तो अलग बात है, नहीं तो वे मेरी सूची में पहले दो खिलाड़ी हैं। ब्रॉड और एंडरसन ने एक साथ मिलकर 117 टेस्ट खेले हैं लेकिन पिछले 15 टेस्ट में उन्हें सिर्फ तीन बार एक साथ खेलने का मौका मिला है।

गंभीर का दावा, भारत में क्या पूरे वर्ल्ड में बेन स्टोक्स जैसा कोई नहीं

संबंधित खबरें