DA Image
5 जून, 2020|9:25|IST

अगली स्टोरी

ICC के नियमों पर बोले फाफ डुप्लेसिस, खिलाड़ियों का आदी होना बेहद मुश्किल

south african captain faf du plessis  pti

कोरोना वायरस ने सुरक्षा के नए नियमों को बढ़ावा दिया है और इसी क्रम में आईसीसी की क्रिकेट समिति ने इस महामारी के बाद खेल शुरू होने पर गेंद चमकाने के लिए सलाइवा के इस्तेमाल को बंद करने की सिफारिश की है ताकि संक्रमण को रोका जा सके। दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज फाफ डु प्लेसिस का मानना है कि इस बदलाव का आदी होना बेहद मुश्किल है। डु प्लेसिस का कहना है कि वह हर गेंद से पहले फील्डिंग के लिए तैयार होने के लिए अपने हाथ पर थूंकते हैं। ऐसा करने वाले सिर्फ डु प्लेसिस नहीं हैं। दुनिया का लगभग हर फील्डर ऐसा करता है ताकि गेंद उसके हाथों में आसानी से चिपक सके। 

2015 WC INDvPAK: सुरेश रैना ने बताया- खाना खा रहा था, जब धोनी आए और बोले- बैटिंग के लिए तैयार हो जाओ

डु प्लेसिस ने स्टार स्पोटर्स के एक शो पर कहा कि मैं स्लिप पर जब खड़ा होता हूं तो कैच लेने के लिए तैयार होने से पहले मैं अपने हाथ पर थूंकता हूं। अगर आप रिकी पोंटिंग जैसे खिलाड़ी को देखेंगे तो वह हर गेंद से पहले अपने हाथ पर इसी तरह थूंकते थे। बता दें कि बीते शुक्रवार को ही इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आईसीसी ने क्रिकेट बहाली के लिए नए नियम और गाइडलाइंस जारी कर दी है।

2 मिनट में रैना के 19 Stunning स्लिप कैच, फैन ने बनाया धांसू वीडियो

आईसीसी ने शुक्रवार को अपने दिशानिर्देशों में मुख्य चिकित्सा अधिकारी की नियुक्ति और 14 दिन तक अलग थलग अभ्यास शिविर लगाने की सिफारिश की। आईसीसी ने दुनिया भर में क्रिकेट की बहाली के लिए व्यापक दिशानिर्देश जारी किए और साथ ही उच्च सुरक्षा प्रोटोकॉल बनाए रखने पर भी ध्यान दिया। आईसीसी ने कहा कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी या जैव सुरक्षा अधिकारी की नियुक्ति पर विचार करें जो सरकारी दिशानिर्देशों तथा अभ्यास और प्रतियोगिता की बहाली के लिए जैव सुरक्षा योजना लागू करने के लिए जिम्मेदार होगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Faf du Plessis Believe No Saliva Rule Will Be Hard To Adapt For Cricketers