DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   क्रिकेट  ›  विराट कोहली की आक्रामकता पर उंगली उठाने वालों की मदन लाल ने लगाई क्लास
क्रिकेट

विराट कोहली की आक्रामकता पर उंगली उठाने वालों की मदन लाल ने लगाई क्लास

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Namita
Tue, 17 Mar 2020 10:59 AM
विराट कोहली की आक्रामकता पर उंगली उठाने वालों की मदन लाल ने लगाई क्लास

टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर और कोच रह चुके मदन लाल ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की आक्रामकता को लेकर अपनी बात रखी है। मदन लाल इस समय क्रिकेट एडवाइजरी कमिटी के भी सदस्य हैं। हाल ही में न्यूजीलैंड दौरा टीम इंडिया के लिए अच्छा नहीं रहा था। टीम इंडिया ने टी20 इंटरनेशनल सीरीज में 5-0 से क्लीनस्वीप किया था, लेकिन इसके बाद टीम को वनडे इंटरनेशनल सीरीज में 0-3 और टेस्ट सीरीज में 0-2 से क्लीनस्वीप का सामना करना पड़ा था। इस दौरान विराट ने न्यूजीलैंड में एक जर्नलिस्ट को भी झड़प दिया था। विराट की आक्रामकता को लेकर काफी आलोचना भी हुई, हालांकि मदन लाल का सोचना बिल्कुल अलग है।

कोरोना वायरसः शेफील्ड शील्ड का फाइनल रद्द, न्यू साउथ वेल्स चैंपियन

मदन लाल ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा, 'मुझे समझ नहीं आता कि क्यों भारत में लोग उसे थोड़ा शांत होने के लिए बोल रहे हैं। पहले लोग बहुत आक्रामक कप्तान चाहते थे और अब चाहते हैं कि विराट कोहली अपनी आक्रामकता कम कर ले। मुझे बहुत पसंद है जैसे वो फील्ड पर रहता है। पहले लोग कहते थे कि भारतीय क्रिकेटर आक्रामक नहीं हैं, अब जब हमारे पास आक्रामक कप्तान है तो हम कहते हैं कि वो इतना आक्रामक क्यों है। मैं कोहली के अग्रेशन को एन्जॉय करता हूं, हमें ऐसे कप्तान की जरूरत है।'

कोरोना वायरस: आईपीएल मालिकों की टेली कॉन्फ्रेंस में नहीं हुआ कोई फैसला

'जीत-हार खेल का हिस्सा'

उन्होंने साथ ही कहा कि हार जीत किसी भी खिलाड़ी के खेल का हिस्सा है, न्यूजीलैंड में खराब प्रदर्शन के बावजूद कोहली दुनिया के बेस्ट खिलाड़ी रहेंगे। उन्होंने कहा, 'वो फॉर्म में नहीं थे, आप कह सकते हैं कि यह आत्मविश्वास की कमी की वजह से हुआ। न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज उनसे कुछ छीन नहीं लेगी। वो अभी भी दुनिया के बेस्ट खिलाड़ी हैं। कभी-कभी टेक्निकल कमियां आ जाती हैं और फिर आप और कड़ी मेहनत करते हैं, लेकिन फिर भी कुछ हो नहीं पाता। यह बड़े से बड़े खिलाड़ियों के साथ होता है।'

'टीम का कॉम्बिनेशन अच्छा नहीं था'

उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि पहले मैच में टीम में जज्बे की कमी नजर आई। हमने बैट से पहली पारी में बेहतर प्रदर्शन किया। टीम इंडिया का कॉम्बिनेशन उतना अच्छा नहीं था और न्यूजीलैंड अपनी रणनीति में कामयाब रहा। बल्लेबाजों ने गेंदबाजों के लिए ज्यादा कुछ किया नहीं। किसी भी टीम के लिए यह निराशाजनक होता है जब बल्लेबाज गेंदबाज के लिए ज्यादा कुछ कर नहीं पाते हैं।'

संबंधित खबरें