DA Image
13 अप्रैल, 2021|3:59|IST

अगली स्टोरी

ज्योफ्री बॉयकॉट जमकर बरसे, कहा- 'बेयरेस्टो के साथ जो किया, उस पर टीम मैनेजमेंट में शर्म आनी चाहिए'

jonny bairstow  instagram

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ज्योफ्री बॉयकॉट का मानना है कि मौजूदा टीम मैनेजमेंट को शर्म आनी चाहिए, जिसने जॉनी बेयरस्टो के टेस्ट करियर के साथ न्याय नहीं किया है। विकेटकीपर बल्लेबाज बेयरस्टो को भारत के खिलाफ पहले दो टेस्ट के लिए आराम दिया गया है। उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ दोनों टेस्ट बल्लेबाज के तौर पर खेले और फिर वर्कलोड मैनेजमेंट के चलते स्वदेश लौट आए।

अक्षर पटेल की वापसी के साथ 2nd टेस्ट से पहले टीम में हुए कुछ बदलाव

बेयरस्टॉ भारत के खिलाफ आखिरी दो टेस्ट के लिए उपलब्ध रहेंगे, लेकिन बॉयकॉट का मानना है कि उन्हें दूसरे टेस्ट के लिए विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर जोस बटलर की जगह खेलना चाहिए था। बटलर को पहले टेस्ट के बाद आराम दिया गया जो सीमित ओवरों की सीरीज के लिए लौटेंगे।

6 भारतीय खिलाड़ी नहीं पास कर सके BCCI का नया फिटनेस टेस्ट

बॉयकॉट ने कहा, 'बटलर भारत से लौट रहा है, लेकिन उसकी जगह बेयरस्टो ने नहीं ली। एड स्मिथ (मुख्य चयनकर्ता) नहीं चाहता कि जॉनी विकेटकीपर के तौर पर खेले।' उन्होंने कहा, 'जॉनी हमेशा कहता आया है कि वह अपने पिता की तरह विकेटकीपर बल्लेबाज बनना चाहता है लेकिन स्मिथ ने फैसला ले लिया है जो अनुचित है । इंग्लैंड टीम मैनेजमेंट ने उसके साथ जो किया, उसे शर्मिंदा होना चाहिए।'

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:England should be ashamed of what they have done to Johny Bairstow Geoffrey Boycott