DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   क्रिकेट  ›  विश्व सेमीफाइनल 2019 में धोनी से पहले बैटिंग के फैसले पर हैरान थे दिनेश कार्तिक
क्रिकेट

विश्व सेमीफाइनल 2019 में धोनी से पहले बैटिंग के फैसले पर हैरान थे दिनेश कार्तिक

एजेंसी,नई दिल्लीPublished By: Mridula
Thu, 23 Apr 2020 07:49 AM
विश्व सेमीफाइनल 2019 में धोनी से पहले बैटिंग के फैसले पर हैरान थे दिनेश कार्तिक

भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने कहा कि न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व कप 2019 सेमीफाइनल में बल्लेबाजी के लिए ऊपर भेजे जाने से वह हैरान थे। मैच में भारत ने जल्दी जल्दी विकेट गंवा दिए थे और कार्तिक को महेंद्र सिंह धोनी से पहले बल्लेबाजी करने के लिए कहा गया था। कार्तिक इस फैसले से काफी आश्चर्यचकित थे। भारत इस मैच में न्यूजीलैंड के हाथों 18 रनों से हारकर फाइनल ही होड़ से बाहर हो गया था। 

दिनेश कार्तिक ने क्रिकबज से कहा, “यह मेरे लिए बिल्कुल हैरानी भरा था, क्योंकि उन्होंने मुझे स्पष्ट रुप से कह रखा था कि मुझे सात नंबर पर ही बल्लेबाजी के लिए भेजा जाएगा। हमें विकेटों की पतझड़ को रोकने के लिए ऐसा करना था। मुझे पैड बांधने के लिए कहा गया और यह सब जल्दबाजी में हुआ। ” 

गौतम गंभीर ने CSK क्रिकेटर को चुना IPL का बेस्ट खिलाड़ी, बोले- इन टीमों के साथ किया है 'जादू'

उन्होंने कहा, “मुझे उस वक्त लग नहीं रहा था कि विकेट इतने जल्दी-जल्दी गिर जाएंगे। अचानक से लोकेश राहुल आउट हो गए और मुझे अपना पैड बांधना पड़ा। ” 

कार्तिक ने कहा, “मैं तीसरे ओवर में गया और मुझे पता नहीं चला कि मैं कब आउट हो गया। लेकिन हमें ट्रेंट बाउल्ट के स्पैल खत्म होने तक विकेट गिरने से रोके रहना था। लेकिन दुर्भाग्यवश जब मैंने कदम बढ़ाना शुरू कर दिया तो फिर जिम्मी नीशाम द्वारा शानदार कैच लेने के कारण मैं आउट हो गया। ” 

बता दें कि भारत-न्यूजीलैंड के बीच वर्ल्ड कप सेमीफाइनल मैच मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान में खेला गया था। इस मैच में महेंद्र सिंह धोनी को बल्लेबाजी के लिए सातवें नंबर पर भेजा गया था। हार के बाद धोनी को सातवें नंबर पर भेजे जाने के फैसले को लेकर काफी आलोचना हुई थी। सचिन तेंदुलकर, पूर्व कप्तान सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण ने भी इस फैसले को रणनीतिक चूक करार दिया था। 

ब्रैंडन मैकुलम बोले, T20 विश्व स्थगित करके उसकी जगह IPL का आयोजन होना चाहिए

इस आलोचना के बाद कोच रवि शास्त्री ने सफाई देते हुए कहा था, ''धोनी को सातवें नंबर पर बैटिंग के लिए भेजने का फैसला पूरी टीम का था और ये एक आसान फैसला था। अगर धोनी पहले बैटिंग के लिए आते और वो जल्दी आउट हो जाते तो स्थिति और खराब हो जाती। हमें उनके अनुभव की बाद में जरूरत थी।''

संबंधित खबरें