DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   क्रिकेट  ›  दीपक चाहर के पिता को आज भी इस चीज का मलाल, कहा- अगर ये गलती ना करते तो उनका बेटा भी आईपीएल में करोड़ों में बिकता 
क्रिकेट

दीपक चाहर के पिता को आज भी इस चीज का मलाल, कहा- अगर ये गलती ना करते तो उनका बेटा भी आईपीएल में करोड़ों में बिकता 

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्ली Published By: Ezaz Ahmad
Thu, 22 Jul 2021 12:54 PM
दीपक चाहर के पिता को आज भी इस चीज का मलाल, कहा- अगर ये गलती ना करते तो उनका बेटा भी आईपीएल में करोड़ों में बिकता 

श्रीलंका के खिलाफ दूसरे वनडे में आठवें नंबर पर आकर नाबाद 69 रनों की मैच विनिंग पारी खेलने वाले दीपक चाहर देश के हीरो बन गए हैं। चाहर ने यह पारी ऐसे दबाव के वक्त खेली जब ​भारतीय टीम सात विकेट गंवा चुकी थी और टीम हार की कगार पर थी। लेकिन निचले क्रम में चाहर के रूप में भारत के पास एक संभावित गेंदबाजी ऑलराउंडर था, जिन्होंने एक ऐसी पारी खेली, जिससे फैन्स के साथ साथ उनके आलोचक भी चौंक गए। दाएं हाथ के निचले क्रम के बल्लेबाज ने 2018 में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के ऑक्शन में खुद को नाम एक ऑलराउंडर के रूप में दर्ज करवाया था, जिसका कि उनके और उनके परिवार को अब भी पछतावा हो रहा है। ऑक्शन में चेन्नई सुपर किंग्स ने दीपक चाहर को 80 लाख रुपये में जबकि उनके भाई राहुल चाहर को मुंबई इंडियंस ने 1.9 करोड़ रुपये में खरीदा था। परिवार राहुल के लिए खुश था लेकिन अब उन्हें महसूस हो रहा है कि अगर दीपक गेंदबाज के रूप में फॉर्म भरते, तो वह भी नीलामी में और ज्यादा रकम पा सकते थे। 

आशीष नेहरा ने एमएस धोनी को दिया दीपक चाहर की सफलता का क्रेडिट

दीपक चाहर के पिता लोकेंद्र चाहर ने द टाइम्स आफ इंडिया से बात करते हुए कहा, ' यह हमारी गलती थी। दीपक ने एक ऑलराउंडर रूप में फॉर्म भरा था। ऑलराउंडर कैटेगरी में खिलाड़ियों की नीलामी उसी दिन देर से हुई। राहुल गेंदबाज बनकर गए थे। नीलामी में राहुल का नाम जल्दी आया। बाद में दीपक का नाम आया। लेकिन जब तक दीपक का नाम पुकारा गया, तब तक टीमों का काफी पैसा खत्म हो चुका था, नहीं तो दीपक को दो करोड़ के करीब मिलते।'

IND vs SL: श्रीलंका के खिलाफ अकेले दम पर जिताने वाले दीपक चाहर ने कहा, टोक्यो में तिरंगा लहराना है

ऐसा माना जा रहा है कि चाहर बैटिंग डिपार्टमेंट में अपनी स्किल्स को तेज करने पर काम कर रहे हैं। उन्होंने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में भी कुछ अच्दे रन बनाए थे। आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने दीपक की बल्लेबाजी क्षमता को परखा और उन्हें छठे नंबर पर प्रमोट किया, जब उन्होंने किंग्स इलेवन पंजाब (अब पंजाब किंग्स) के खिलाफ एक शानदार पारी खेली थी। दीपक ने उस मैच में केवल 20 गेंदों में 39 रन बनाए थे और टीम मैनेजमेंट को अपनी बल्लेबाजी का जौहर दिखाया था।

संबंधित खबरें