फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटCWG 2022: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ राधा यादव की फील्डिंग बनी मिसाल, आईसीसी ने भी किया सलाम

CWG 2022: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ राधा यादव की फील्डिंग बनी मिसाल, आईसीसी ने भी किया सलाम

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के फाइनल मैच में भारतीय महिला टीम ने बॉलिंग और फील्डिंग डिपार्टमेंट में तो जबर्दस्त प्रदर्शन किया, लेकिन बैटिंग में बाजी हार गई और मैच गंवा दिया।

CWG 2022: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ राधा यादव की फील्डिंग बनी मिसाल, आईसीसी ने भी किया सलाम
Namita Shuklaलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीMon, 08 Aug 2022 03:41 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने भले ही कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 का फाइनल मैच 9 रनों से गंवा दिया, लेकिन इस मैच के दौरान टीम की खिलाड़ियों ने जिस तरह से फील्डिंग की, वह मिसाल बन गई। राधा यादव का रनआउट करना हो या फिर दीप्ति शर्मा का एक हाथ से पकड़ा गया स्टनिंग कैच। राधा यादव ने जिस चालाकी से कप्तान मेग लैनिंग को रनआउट किया, उसने इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) का भी दिल जीत लिया। लैनिंग 26 गेंद पर 36 रन बनाकर खेल रही थीं और नॉन स्ट्राइकर एंड पर थीं, राधा ने उन्हें बड़ी ही चालाकी से रनआउट किया।

ऑस्ट्रेलियाई पारी का 11वें ओवर की पहली ही गेंद थी और स्ट्राइक पर बेथ मूने थीं। मूने के बल्ले से गेंद लगकर स्ट्रेट जा ही रही थी। उधर लैनिंग क्रीज से बाहर आ गई थीं। राधा ने बस चालाकी से गेंद की दिशा नॉनस्ट्राइकर स्टंप पर कर दी और इस तरह से लैनिंग की पारी का अंत हुआ। यह विकेट भारत के लिहाज से बहुत अहम था। 

लड़खड़ाती बल्लेबाजी को सुधारने पर बोलीं कप्तान हरमनप्रीत कौर

सिल्वर मेडल की बधाई के साथ गांगुली ने लगाई महिला टीम की 'क्लास' भी!

आईसीसी ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा कि राधा की फील्डिंग एफर्ट को एक शब्द में बताएं। लोगों ने इस पर काफी कमेंट्स भी किए हैं। खैर मैच की बात करें तो फील्डिंग और गेंदबाजी के दम पर टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को 20 ओवर में 161 रनों पर रोक दिया। जवाब में भारतीय टीम 19.3 ओवर में 152 रनों पर सिमट गई। एक समय भारत का स्कोर दो विकेट पर 118 रन था, लेकिन जेमिमा रॉड्रिगुएज के आउट होते ही मैच की तस्वीर बदल गई और भारत ने मैच गंवा दिया। इस तरह से सीडब्ल्यूजी का पहला महिला क्रिकेट का गोल्ड  मेडल ऑस्ट्रेलिया के नाम हो गया।

epaper