DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

WC-2019: आज भी टीस पैदा करती है वर्ल्डकप मुकाबलों में दिल तोड़ने वाली हार

cricketers crying when loosing

1 / 2cricketers crying when loosing

2015                                                                                                        -

2 / 22015 में डीविलियर्स और टीम आंसुओं में डूब गई-

PreviousNext

वर्ल्ड कप इतिहास में कई मैच ऐसे रहे जिनकी छाप आज तक क्रिकेटप्रेमियों के दिलोदिमाग पर है। कई टीमों को चौंकाने वाली हार मिली तो कुछ मैच आखिरी गेंद पर जीती बाजी से हार में बदल गए...


13 मार्च को ईडन गार्डंस में खेला गया 1996 का वर्ल्ड कप सेमीफाइनल भारतीय टीम के लिए दिल तोड़ने वाला था। पवेलियन लौटते वक्त विनोद कांबली की फूट-फूटकर रोने की तस्वीर आज भी दिल दुखाती है। 

सचिन के आउट होते ही लुढ़के : खिताब की प्रबल दावेदार भारतीय टीम श्रीलंका के 252 रन के लक्ष्य का पीछा कर रही थी। पर सचिन तेंदुलकर के आउट होते ही भारतीय पारी बिखर गई। 98 रन पर एक विकेट से स्कोर 120 रन पर आठ विकेट हो गया।

दर्शकों ने मैच रोका : कोलकाता के दर्शक भड़क गए। उन्होंने मैदान पर बोतले फेंकनी शुरू कर दी। कुर्सियां तोड़ डाली और बैनरों में आग लगा दी। हालात बिगड़ते देख मैच बंद कर श्रीलंका को विजेता घोषित कर दिया।

2007 में टीम इंडिया के पहले दौर में हार से हाहाकार
2007 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम पूर्व उपविजेता के तौर पर उतरी थी, लेकिन उसे पहले ही दौर में बाहर होना पड़ा। भारत के ग्रुप में बरमूडा, श्रीलंका और बांग्लादेश थे। सभी को लगा कि भारतीय टीम आसानी से अगले दौर में पहुंच जाएगी। 

बांग्लादेश ने चौंकाया: बांग्लादेश ने भारत को पांच विकेट से चौंकाया था। फिर श्रीलंका ने 69 रन से हराकर टीम इंडिया को बाहर कर दिया। भारत में नाराज प्रशंसकों ने खिलाड़ियों के पुतले जलाए और उनके घरों पर पत्थरबाजी की थी। कोच ग्रेग चैपल की भी खूब फजीहत हुई।

1999 में एक मामूली चूक ने दक्षिण अफ्रीका का सपना तोड़ा
17 जून 1999 को खेले गए वर्ल्ड कप सेमीफाइनल मैच में एक गलती दक्षिण अफ्रीका को खिताब से दूर ले गई। 214 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए दक्षिण अफ्रीका को आखिरी ओवर में नौ रन की दरकार थी। आखिरी जोड़ी के रूप में क्लूजनर व डोनाल्ड थे। क्लूजनर ने लगातार दो गेंदों पर चौके जड़ दिया।


गलतफहमी में रनआउट: फाइनल की राह एकदम आसान थी, लेकिन चौथी गेंद पर क्लूजनर और डोनाल्ड में गलतफहमी हो गई। एक रन लेने की कोशिश में डोनाल्ड रनआउट हो गए और दक्षिण अफ्रीका का खिताबी सपना भी टूट गया। हालांकि मैच टाई हुआ लेकिन सुपर-सिक्स चरण में ज्यादा अंक के कारण ऑस्ट्रेलिया फाइनल में पहुंचा और फिर चैंपियन बना।


2015 में डीविलियर्स और टीम आंसुओं में डूब गई-
दक्षिण अफ्रीकी टीम पर चोकर्स का ठप्पा है। 2015 के वर्ल्ड कप में न्यूजीलैंड के हाथों सेमीफाइनल में मिली हार ने इसे फिर साबित किया। टीम खिताब की दावेदार थी। उसने पांच विकेट पर 281 रन बनाए। 

स्टेन की गेंद पर छक्के से हारे : बारिश के कारण न्यूजीलैंड को 43 ओवर में 298 रन का संशोधित लक्ष्य मिला। आखिरी दो गेंदो में न्यूजीलैंड को पांच रन चाहिए थे। ग्रांट इलियोट (नाबाद 84) ने डेल स्टेन की गेंद पर छक्का जड़ जीत दिला दी। कप्तान डीविलियर्स समेत पूरी द. अफ्रीकी टीम आंसुओं में डूब गई।


भारत की तरह पाकिस्तान के लिए भी 2007 का वर्ल्ड कप बुरे सपने की तरह रहा। पहले मैच में उसे विंडीज ने हराया। उसे आयरलैंड के खिलाफ हर हाल में जीत चाहिए थी। 

आयरलैडने पीटा: आयरलैंड ने पाक को तीन विकेट से हारकर सनसनी मचा दी। पाक का वर्ल्ड कप से सफर खत्म हो गया। इस हार का दर्द तब बढ़ गया, जब मैच के बाद पाक टीम के कोच बॉब वूल्मर की होटल के कमरे में रहस्यमय तरीके से मौत हो गई।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Cricket World Cup 2019: read the Most Interesting cricket Battles in history