DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

World Cup 2019: 10 नये चेहरों संग उतरेगी 1992 की चैंपियन पाकिस्तान

pakistan cricket

 वर्ष 1992 की विश्व चैंपियन रही पाकिस्तान क्रिकेट टीम वक्त के साथ कई बदलावों से गुज़री लेकिन उसकी मौजूदा स्थिति खास मज़बूत नहीं है जिससे 3० मई से शुरू होने जा रहे आईसीसी विश्वकप खिताब को जीतने की बड़ी दावेदारों में उसे नहीं गिना जा रहा है, हालांकि अपनी टीम में 1० नये चेहरों के साथ उसे बड़ा उलटफेर करने की उम्मीद है।

सरफराज़ अहमद की कप्तानी में पाकिस्तानी टीम अपने अभियान की शुरूआत विश्वकप में 31 मई को वेस्टइंडीज़ के खिलाफ करेगी। पाकिस्तानी टीम में 1० खिलाड़ी इस बार अपना पदार्पण करेंगे जिनमें फखर जमान, इमाम उल हक, बाबर आज़म, आबिद अली, शादाब खान, फहीम अशरफ, इमाद वसीम, शाहीन आफरीदी, हसन अली और मोहम्मद हसनेन शामिल हैं। टीम के एक सदस्य जुनैद खान 2०15 विश्वकप टीम में शामिल थे लेकिन चोटिल होने के कारण विश्वकप शुरू होने से पहले ही टूनार्मेंट से बाहर हो गये थे।

भारत के खिलाफ अभ्यास मैच नहीं खेलेंगे टॉम लाथम

पाकिस्तान ने वर्ष 1992 में विश्वकप खिताब एकमात्र बार जीता लेकिन उसके बाद से उसे आईसीसी खिताब की तलाश है। वर्ष 1999 की उपविजेता टीम वर्ष 1979, 1983, 1987 और 2०11 में सेमीफाइनलिस्ट रही जबकि 1996 और 2०15 में वह क्वार्टरफाइनल तक ही पहुंच सकी।

बुरा या भला पर लोग मेरे बारे में बात करते हैं: दिनेश कार्तिक

मौजूदा परिस्थितियों में पाकिस्तानी टीम को खिताब के प्रबल दावेदारों में गिना नहीं जा रहा है लेकिन इस टीम से बड़े उलटफेर की उम्मीद करना भी गलत नहीं होगा। हालांकि हाल ही में इंग्लैंड के हाथों पांच वनडे मैचों की सीरीज़ को ०-4 से एकतरफा अंदाज़ में शिकस्त के बाद उसका मनोबल और गिरा है जिसके कारण पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड(पीसीबी) के मुख्य चयनकतार् और पूर्व क्रिकेटर इंजमाम उल हक ने 15 सदस्यीय विश्वकप टीम में कई बड़े बदलाव कर दिये।

पाकिस्तानी टीम में अनुभवी वहाब रियाज़ को मौका दिया गया है जिन्होंने दो वषार्ें से एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट ही नहीं खेला है। हालांकि टीम में 1० ऐसे खिलाड़ी भी हैं जो पहली बार विश्वकप टूनार्मेंट में टीम का भाग्य बदलने उतरेंगे। 

टीम के कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज़ सरफराज़ अहमद ने 2015 विश्वकप में अपनी टीम के लिए तीन मैच खेले थे जिसमें आयरलैंड के खिलाफ उनकी नाबाद 101 रन की पारी अहम रही थी। वहीं हैरिस सोहेल के पास पिछले विश्वकप में छह मैच खेलने का अनुभव है। हालांकि 38 साल के मोहम्मद हफीज़ पाकिस्तानी टीम में सबसे उम्रदराज़ खिलाड़ी हैं जो 2015, 2011 और 2007 विश्वकप में टीम का हिस्सा रहे थे। हफीज़ ने हालांकि 2015 विश्वकप में एक भी मैच नहीं खेला था लेकिन बाकी दो टूर्नामेंटों में कुल 10 मैच खेले और 230 रन बनाये। 

पहली बार विश्वकप में उतरने वाले खिलाड़ियों में पाकिस्तान के बल्लेबाज़ 24 साल के बाबर आज़म हैं जिन्होंने करियर में 64 वनडे मैचों में 2739 रन बनाये हैं। सलामी बल्लेबाज़ फखर जमान ने जून 2017 में पाकिस्तान के लिए पदार्पण किया था और पहली बार विश्वकप में भी उतरेंगे। उन्होंने जुलाई 2018 में जिम्बाब्वे के खिलाफ नाबाद 210 रन की सर्वश्रेष्ठ पारी से सुर्खियां बटोरी थीं।

तेज़ गेंदबाज़ हसन अली की भी इंग्लिश पिचों पर अहम भूमिका होगी जिन्होंने अगस्त 2016 में पदार्पण के बाद से 49 मैचों में 80 विकेट लिए हैं और अपनी टीम के अहम गेंदबाज़ होंगे। ऑलराउंडर इमाद वसीम भी टीम के प्रतिभाशाली खिलाड़ियों में है जिन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ मई में हालिया वनडे सीरीज़ में लीड्स मैच में 53 रन पर तीन विकेट लिए थे और अपने पहले विश्वकप में उनसे बड़े कारनामे की उम्मीद है।

वहीं इस सीरीज़ में ब्रिस्टल वनडे में चयनकर्ता इंजमाम उल हक के भतीजे इमाम उल हक ने इंग्लैंड के खिलाफ वनडे में अपना 151 रन का सर्वश्रेष्ठ स्कोर बनाया और वह भी पहली बार विश्वकप टूर्नामेंट में खेलेंगे जहां पाकिस्तानी टीम की बल्लेबाज़ी का उनपर जिम्मा रहेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Cricket World Cup 2019 Pakistan will play with new players