DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   क्रिकेट  ›  WTC फाइनल से पहले छिड़ा बायो बबल प्रोटोकॉल को लेकर विवाद, भारतीय टीम मैनेजमेंट ने ICC से की शिकायत
क्रिकेट

WTC फाइनल से पहले छिड़ा बायो बबल प्रोटोकॉल को लेकर विवाद, भारतीय टीम मैनेजमेंट ने ICC से की शिकायत

भाषा,साउथम्पटनPublished By: Namita Shukla
Tue, 15 Jun 2021 10:47 PM
WTC फाइनल से पहले छिड़ा बायो बबल प्रोटोकॉल को लेकर विवाद, भारतीय टीम मैनेजमेंट ने ICC से की शिकायत

भारतीय टीम मैनेजमेंट ने साउथम्पटन के एजिस बॉल स्टेडियम में 18 जून से न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए मंगलवार को अपनी 15 सदस्यीय टीम की घोषणा कर दी, लेकिन इसके साथ ही भारत ने इस टेस्ट के लिए आईसीसी द्वारा लागू सख्त बायो बबल नियम पर सवाल उठाए हैं। दरअसल न्यूजीलैंड की टीम के छह सदस्यों को नजदीक के गोल्फ कोर्स में जाने की अनुमति दे दी गई, जबकि भारतीय खिलाड़ी अपने परिवार के साथ होटल के अपने फ्लोर पर ही रुके हुए हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक ट्रेंट बोल्ट, टिम साउदी, हेनरी निकोल्स, मिशेल सेंटनर, डेरिल मिशेल और फिजियो टॉय सिमसेक मंगलवार की सुबह गोल्फ कोर्स गए थे, भारतीय टीम मैनेजमेंट इसे लेकर आईसीसी को एक शिकायत देगा कि भारतीय टीम का महसूस करना है कि यह बायो बबल नियमों का एक उल्लंघन है। यह गोल्फ कोर्स एजिस बॉल के एरिया में ही स्थित है, लेकिन भारतीय टीम का कहना है कि नियम दोनों टीमों के लिए एक समान होने चाहिए। एक भारतीय टीम सदस्य ने कहा, 'खिलाड़ियों और उनके परिवारों से कहा गया है कि वे होटल में अपने सम्बंधित फ्लोर से बाहर न निकलें जब तक मैदान में न जाना हो, लेकिन आज सुबह हमें पता चला कि छह कीवी खिलाड़ी गोल्फ कोर्स में खेलने गए थे।'

आईसीसी ने हालांकि कहा कि बायो बबल का कोई उल्लंघन नहीं हुआ है और अब भारतीय टीम ने अपना क्वारंटीन पीरियड पूरा कर लिया है, इसलिए वे अब बायो सिक्योर बबल के आस-पास ज्यादा आजादी से घूम फिर सकते हैं जिसमें गोल्फ खेलना भी शामिल है। न्यूजीलैंड की पूरी टीम दो टेस्ट की सीरीज के लिए ईसीबी के बायो सिक्योर एन्वॉयरमेंट में थी और उसे सोमवार को आईसीसी एन्वॉयरमेंट में शिफ्ट किया गया था।

संबंधित खबरें