फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटपाकिस्तान टीम में हो रही जमकर गुटबाजी, कोच गैरी कस्टर्न ने पकड़ लिया सिर, खोल दी पाक टीम की पोल

पाकिस्तान टीम में हो रही जमकर गुटबाजी, कोच गैरी कस्टर्न ने पकड़ लिया सिर, खोल दी पाक टीम की पोल

पाकिस्तान के मुख्य कोच गैरी कर्स्टन ने माना है कि पाकिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाड़ी एक-दूसरे का सपोर्ट नहीं कर रहे हैं और टीम के अंदर यूनिटी नहीं है। खिलाड़ी अपनी मनमानी कर रहे हैं।

पाकिस्तान टीम में हो रही जमकर गुटबाजी, कोच गैरी कस्टर्न ने पकड़ लिया सिर, खोल दी पाक टीम की पोल
Himanshu Singhलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 17 Jun 2024 09:16 PM
ऐप पर पढ़ें

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए टी20 विश्व कप 2024 के ग्रुप स्टेज से बाहर होने के बाद मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही है। टीम के अंदर गुटबाजी की खबरें सामने आई हैं। कई पूर्व क्रिकेटरों ने इसकी पुष्टि भी की है और मैदान पर भी इसका असर नजर आया। पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम की भी जमकर आलोचना हो रही है और एक बार फिर उनको कप्तानी से हटाने की चर्चा शुरू हो गई है। इस बीच एक रिपोर्ट सामने आई है कि टीम के मुख्य कोच गैरी कर्स्टन भी टीम के अंदर खिलाड़ियों की गुटबाजी से खुश नहीं हैं और माना है कि खिलाड़ी एक-दूसरे का साथ नहीं दे रहे हैं। 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक टीम के मुख्य कोच गैरी कर्स्टन और खिलाड़ियों के बीच तालमेल नहीं बैठ पा रहा है। क्योंकि खिलाड़ी ग्रुप में बटे हुए हैं। भारत के पूर्व विश्व कप विजेता कोच कर्स्टन ने आयरलैंड के खिलाफ अंतिम मैच के बाद एक मीटिंग में कथित तौर पर पाकिस्तानी टीम के प्रत्येक खिलाड़ी की खिंचाई की थी और टीम में यूनिटी ना होने के लिए उन्हें आड़े हाथों लिया था।

पाकिस्तान के जियो सुपर न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार नवनियुक्त मुख्य कोच कर्स्टन को यह देखकर दुख हुआ कि पाकिस्तानी खिलाड़ी एक-दूसरे का साथ नहीं दे रहे हैं। मुख्य कोच कर्स्टन ने ग्रुप स्टेज के मैच खत्म होने के बाद कहा, ''पाकिस्तान की टीम में यूनिटी नहीं है। वे इसे टीम कहते हैं, लेकिन ये टीम नहीं है। वे दूसरे को सपोर्ट नहीं कर रहे हैं, सभी अलग-अलग बाएं और दाएं बटे हैं, मैंने कई टीमों के साथ काम किया है लेकिन ऐसा कभी नहीं देखा।''

गौतम गंभीर के बाद जोंटी रोड्स को मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी, बन सकते हैं भारत के फील्डिंग कोच!

रिपोर्ट के मुताबिक कोच ने आगे कहा, ''कोई नहीं जानता कि कब कौन सा शॉट खेलना है' और चेतावनी देते हुए कहा, "इन क्षेत्रों में सुधार करने वाले खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया जाएगा; अन्यथा, उन्हें बाहर कर दिया जाएगा।"