फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटटीम इंडिया में उमरान मलिक को जगह मिलने पर बोले चोपड़ा- जल्दबाजी में फैसला लेने की जरूरत नहीं, पिछले 8 ओवर में दिए 100 रन

टीम इंडिया में उमरान मलिक को जगह मिलने पर बोले चोपड़ा- जल्दबाजी में फैसला लेने की जरूरत नहीं, पिछले 8 ओवर में दिए 100 रन

इस सीजन की शुरुआत से ही उमरान मलिक को भारतीय टीम में जगह मिलने को लेकर बहस छिड़ चुकी है। लेकिन आकाश चोपड़ा को लगता है कि टी20 वर्ल्ड कप के लिए उमरान को जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए।

टीम इंडिया में उमरान मलिक को जगह मिलने पर बोले चोपड़ा- जल्दबाजी में फैसला लेने की जरूरत नहीं, पिछले 8 ओवर में दिए 100 रन
Himanshu Singhलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीFri, 06 May 2022 08:10 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली कैपिटल्स ने आईपीएल 2022 के 50वें मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद को 21 रन से मात दी। हालांकि 21 नंबर आईपीएल के 15वें सीजन के सबसे तेज गेंदबाज उमरान मलिक के दिमाग में भी बैठ गया होगा। क्योंकि अपनी तूफानी गेंदबाजी से मशहूर हुए उमरान को दिल्ली कैपिटल्स के सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर ने मैच के उनके पहले ही ओवर में दो चौके और 1 छक्के की मदद से कुल 21 रन बटोरे और उमरान की रफ्तार भरी गेंदबाजी का डटकर सामना किया। 

मलिक की इस मैच में इसके बाद लाइन और लेंथ ऐसी बिगड़ी कि उन्होंने 4 ओवर में 52 रन लुटा दिए और मैच में सबसे ज्यादा रन देने वाले गेंदबाज रहे। हालांकि अपने ओवरों में वह 155 और 157 किमी/घंटा की स्पीड से भी गेंदबाजी करते हुए नजर आए। उन्होंने आईपीएल 2022 की सबसे तेज गेंदबाजी भी फेंकी, जिस पर पॉवेल ने चौका मारा। 

इस सीजन की शुरुआत से ही उनको भारतीय टीम में जगह मिलने को लेकर बहस छिड़ चुकी है। लेकिन क्या उन्हें इस साल होने वाले टी20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम का हिस्सा होना चाहिए? भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज आकाश चोपड़ा को लगता है कि उमरान को जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए। क्योंकि उसने अपने पिछले दो आईपीएल मैचों में 100 से अधिक रन बनाए हैं।

आकाश चोपड़ा ने कहा, ''जल्दबाजी में निर्णय लेने की आवश्यकता नहीं है। भारत में एक नियम है कि यदि आप 150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करते हैं, तो आप निश्चित रूप से देश के लिए खेलेंगे, चाहे वह अभी हो या बाद में। लेकिन उसने अपने अंतिम आठ ओवरों में सौ रन दिए हैं। उसे कुछ समय दें। उसे भारतीय टीम के साथ यात्रा करनी चाहिए, लेकिन उसे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने के लिए जल्दी नहीं करना चाहिए।"

गरीबी के कारण मुंबई इंडियंस के कुमार कार्तिकेय ने छोड़ दिया था खाना, कोच ने बताया- कैसे बदली कुमार की जिंदगी

उन्होंने कहा, "बस यह समझ में आ गया कि वह क्या कर सकता है और क्या नहीं। गेंद हाथ से अच्छी तरह निकल रही है और वह गेंद को स्विंग करने पर ध्यान दे रहा है न कि गति पर। एक समय था जब वह हवा के माध्यम से तेज होने की कोशिश करता था।" , लेकिन अभी नहीं। निरंतरता, अनुभव और स्वीकृति है, जिसने भुवनेश्वर के गेंदबाजी करने के तरीके को बदल दिया है।''

epaper