DA Image
हिंदी न्यूज़ › क्रिकेट › ENG vs WI: 'मैन ऑफ द मैच' बने बेन स्टोक्स, कहा- टीम जो भी कहेगी, करूंगा
क्रिकेट

ENG vs WI: 'मैन ऑफ द मैच' बने बेन स्टोक्स, कहा- टीम जो भी कहेगी, करूंगा

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Mridula Bhardwaj
Tue, 21 Jul 2020 07:59 AM
ENG vs WI: 'मैन ऑफ द मैच' बने बेन स्टोक्स, कहा- टीम जो भी कहेगी, करूंगा

इंग्लैंड के क्रिकेटर बेन स्टोक्स ने मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच में एक बार फिर से साबित किया कि वह आधुनिक युग से सर्वश्रेष्ठ ऑल राउंडर्स में से एक हैं। पहले टेस्ट मैच में कप्तान के रूप में नजर आने के बाद बेन स्टोक्स ने इस दूसरे टेस्ट मैच में एक मिशन पर नजर आए। विश्व के नंबर दो आलराउंडर बेन स्टोक्स ने इस मैच में जबरदस्त हरफनमौला प्रदर्शन किया। उन्होंने पहली पारी में 176 और दूसरी पारी में नाबाद 78 रन बनाए। इसके अलावा उन्होंने कुल तीन विकेट भी लिए। इस शानदार प्रदर्शन के लिए स्टोक्स को 'मैन ऑफ द मैच' अवॉर्ड मिला। 

वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट में शानदार प्रदर्शन करने वाले इंग्लैंड के स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स का कहना है कि टीम जो भी उनसे बोलेगी वह वैसा करने के लिए तैयार हैं। यह पूछे जाने पर की क्या उनकी टीम उनसे गेंदबाजी में ज्यादा की उम्मीद करती है। इस पर स्टोक्स ने कहा, “ऐसा नहीं है। लेकिन टीम मुझसे जो चाहेगी वो मैं देने के लिए तैयार हूं। हमने अपने आक्रमण में हालात को देखते हुए बदलाव किए हैं, अगर स्थिति थोड़ी कठिन होती है तो हम उस हिसाब से गेंदबाजी करते हैं और फील्डिंग आक्रामक रुप से करते हैं।” 

ICC WTC Point Table: दूसरे टेस्ट में वेस्टइंडीज पर जीत से इंग्लैंड तीसरे नंबर पर पहुंचा, जानें क्या है भारत की स्थिति

उन्होंने कहा, “इससे सिर्फ हमें विकेट लेने के अवसर ही नहीं मिलते बल्कि आत्मविश्वास भी बढ़ता है क्योंकि हमें लगता है कि उस दौरान बल्लेबाज के पास ज्यादा मौके नहीं होते हैं। आपको पता होता है कि जैसी ही आपने पांच-छह ओवर गेंदबाजी कर ली आप संतुलित हो जाते हैं। लेकिन मुझे जैसा करने कहा जाएगा मैं उसके लिए हमेशा तैयार हूं।” 

मैच के अंतिम शणों में स्टोक्स मैदान पर असहज महसूस कर रहे थे, जिसके बाद वह अपने ओवर को बीच में छोड़कर ही मैदान से बाहर चले गए थे। बाद में उनका ओवर कप्तान जो रूट ने पूरा किया था। स्टोक्स ने अपनी चोट के बारे में कहा, “मैं ठीक हूं। शरीर में काफी अकड़न लग रही थी। मैंने स्टुअर्ट ब्रॉड से कहा था कि मुझे अकड़न महसूस हो रही है। आपको क्या लगता है और उन्होंने कहा था कि रूक जाओ। ऐसा ही कुछ मेरे साथ तीन-चार साल पहले पाकिस्तान के खिलाफ खेलते हुए हुआ था। मैं जोखिम नहीं ले सकता था। मैंने समझदारी भरा फैसला लिया और अपने शरीर की सुनी।”

बायो सिक्योर प्रोटोकॉल तोड़ने के बाद क्या वेस्टइंडीज के खिलाफ आखिरी टेस्ट मैच खेल पाएंगे जोफ्रा आर्चर?

कौन-सी पारी खेलने में ज्यादा मजा आया? इस सवाल का जवाब देते हुए स्टोक्स ने कहा, ''दोनों पारियों में अलग भूमिका अदा की। तीसरी पारी सिंपल थी। हम जितना अधिक स्कोर कर सकते थे, हमें करना था। लेकिन 11 ओवरों में 90 रन रन ने हमें खेल में बढ़त दिलाई। इसका ज्यादा क्रेडिट गेंदबाजों को जाता है, जिन्होंने नई गेंद से गेंदबाजी की। हमारे बीच बैटिंग ऑर्डर को लेकर कुछ बातचीत हुई। यह काफी सकारात्मक कदम था।''

उन्होंने कहा, ''इस टेस्ट मैच से ड्रॉ होना अच्छा नहीं था। मुझे अपने एजेंट नील फेयरब्रदर का मैसेज मिला और उन्होंने कहा कि जब उन्होंने पहली बार मुझे खेलते हुए देखा था तो कभी नहीं सोचा था कि मैं एक पारी में 300 गेंद खेलूंगा।''

संबंधित खबरें