DA Image
15 सितम्बर, 2020|3:07|IST

अगली स्टोरी

डोमेस्टिक क्रिकेट के लिए बीसीसीआई ने जारी की एसओपी, कोचिंग नहीं दे पाएंगे 60 से अधिक अरुण लाल और वाटमोर

bengal cricket captain abhimanyu easwaran and coach arun lal inspect the pitch during a training ses

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के राज्य संघों को जारी स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर (एसओपी) 60 साल से अधिक के व्यक्तियों को ट्रेनिंग कैंप का हिस्सा बनने से रोकती है, जिसका असर अरुण लाल और ऑस्ट्रेलियाई डेव वाटमोर पर पड़ सकता है जो क्रम से बंगाल और बड़ौदा की टीमों के कोच हैं। अप्रैल में 66 साल के वाटमोर को बड़ौदा का कोच नियुक्त किया गया था, जबकि 65 साल के अरुण लाल के मार्गदर्शन में बंगाल ने मार्च में रणजी ट्रॉफी फाइनल में जगह बनाई थी।

बीसीसीआई के 100 पन्ने से अधिक के एसओपी के एक दिशानिर्देश के अनुसार, '60 साल से अधिक की उम्र के सहयोगी स्टाफ, अंपायर, मैदानी स्टाफ और मधुमेह जैसी बीमारियों का ट्रीटमेंट करा रहे लोग, कमजोर इम्युनिटी वालों के लिए कोविड-19 को जोखिम अधिक माना जा रहा है।' इसके अनुसार, 'सरकार के उचित दिशानिर्देश जारी करने तक ऐसे व्यक्तियों को कैंप की गतिविधियों में हिस्सा लेने से रोका जाना चाहिए।' अरुण लाल और वाटमोर दोनों सीजन पूर्व ट्रेनिंग कैंप में हिस्सा नहीं ले पाएंगे।

बंगाल क्रिकेट संघ (कैब) के अध्यक्ष अविषेक डालमिया प्रतिक्रिया के लिए उपलब्ध नहीं थे, लेकिन बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, 'यह एसओपी है। किसी भी टीम के लिए नियमों का उल्लंघन बेहद मुश्किल होगा। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि अरुण लाल या वाटमोर जैसे कोच को बाहर रहना होगा।'
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:bcci sop arun lal and whatmore can not coach their teams here is why