फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटखिलाड़ियों को BCCI की फाइनल वॉर्निंग, रणजी ट्रॉफी छोड़ी तो भुगतने होंगे परिणाम

खिलाड़ियों को BCCI की फाइनल वॉर्निंग, रणजी ट्रॉफी छोड़ी तो भुगतने होंगे परिणाम

बीसीसीआई ने खिलाड़ियों को फाइनल वॉर्निंग दे दी है। बीसीसीआई सचिव जय शाह ने पत्र लिखकर कहा है कि रणजी ट्रॉफी  किसी खिलाड़ी ने छोड़ी तो इसके परिणाम सभी को भुगतने के लिए तैयार होगा।

खिलाड़ियों को BCCI की फाइनल वॉर्निंग, रणजी ट्रॉफी छोड़ी तो भुगतने होंगे परिणाम
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 17 Feb 2024 09:41 AM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने शुक्रवार को शीर्ष क्रिकेटरों को एक पत्र लिखकर चेतावनी दी है। उन्होंने केंद्रीय अनुबंधित और इंडिया ए टीम को पत्र लिखकर कहा है कि घरेलू क्रिकेट राष्ट्रीय टीम में चयन के लिए महत्वपूर्ण मानदंड है और इसमें भाग नहीं लेने पर इसके गंभीर प्रभाव होंगे। बीसीसीआई ने अपने लेटर में कहा है कि घरेलू रेड-बॉल क्रिकेट पर आईपीएल को प्राथमिकता देने वाले खिलाड़ियों के लिए चिंता की बात है।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, जय शाह ने लेटर में लिखा, "हाल ही में एक ट्रेंड सामने आया है और यह चिंता का कारण है। कुछ खिलाड़ियों ने घरेलू क्रिकेट पर आईपीएल को प्राथमिकता देना शुरू कर दिया है, एक ऐसा बदलाव जिसकी उम्मीद नहीं थी। घरेलू क्रिकेट हमेशा वह आधार रहा है जिस पर भारतीय क्रिकेट खड़ा है और खेल के प्रति हमारे दृष्टिकोण में इसे कभी भी कम महत्व नहीं दिया गया है।"

उन्होंने यह भी कहा कि "घरेलू क्रिकेट भारतीय क्रिकेट की रीढ़ है और टीम इंडिया के लिए फीडर लाइन के रूप में कार्य करता है। भारतीय क्रिकेट के लिए हमारा दृष्टिकोण शुरू से ही स्पष्ट रहा है। भारत के लिए खेलने के इच्छुक प्रत्येक क्रिकेटर को घरेलू क्रिकेट में खुद को साबित करना होगा। घरेलू क्रिकेट में प्रदर्शन चयन के लिए एक महत्वपूर्ण पैमाना बना हुआ है और घरेलू क्रिकेट में भाग ना लेने पर इसके गंभीर प्रभाव होंगे।"

युवराज सिंह के घर में हुई चोरी, गायब हुआ कैश और ज्वैलरी; मां ने इन पर जताया संदेह

जय शाह ने इस पत्र में ये भी कहा है कि घरेलू क्रिकेट में अगर ऐसा होगा तो ये बोर्ड के लिए भी चिंता की बात होगी। शाह ने माना है कि आईपीएल बोर्ड के लिए एक धरोहर है, लेकिन खिलाड़ियों को अगर भारतीय टीम में खेलना है तो उनको घरेलू फर्स्ट क्लास क्रिकेट को प्राथमिकता देनी चाहिए। ईशान किशन ही नहीं, बल्कि सभी खिलाड़ियों के लिए ये चेतावनी है। दीपक चाहर भी आईपीएल की तैयारियों में जुट गए हैं। 

बीसीसीआई सचिव जय शाह ने महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर का उदाहरण देते हुए लिखा, "सुनील गावस्कर जैसे दिग्गजों ने अंतरराष्ट्रीय दौरे से आने वाली सुबह क्लब क्रिकेट खेलकर इस समर्पण का उदाहरण दिया। घरेलू क्रिकेट को सिर्फ एक प्रतिबद्धता के रूप में नहीं, बल्कि एक जिम्मेदारी और गर्व के स्रोत के रूप में देखा जाता था।" जय शाह ने राजकोट में ही खिलाड़ियों को कह दिया था कि उनके बहाने बर्दाश्त नहीं होंगे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें