DA Image
6 अगस्त, 2020|7:08|IST

अगली स्टोरी

चंड़ीगढ़ में फर्जी 'Uva टी-20 लीग' का खुलासा, स्ट्रीमिंग की जांच में जुटा BCCI

bcci photo-ht

चंडीगढ़ में खेले गए एक टी-20 मैच की ऐसे ऑनलाइन स्ट्रीमिंग की गई जैसे यह मैच श्रीलंका में खेला गया हो और बीसीसीआई की भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीयू), पंजाब पुलिस और श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड इसकी जांच में जुटे हुए है। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने इसमें शामिल होने से इनकार किया है और कानूनी कार्रवाई करने का फैसला किया। 'इंडियन एक्सप्रेस' की शुक्रवार को रिपोर्ट के अनुसार यह मैच 29 जून को खेला गया था जो चंडीगढ़ से 16 किलोमीटर दूर सवारा गांव में हुआ था लेकिन इसे श्रीलंका के बादुला शहर में 'यूवा टी20 लीग' मैच के तौर पर स्ट्रीम किया गया। बादुला शहर यूवा प्रांतीय क्रिकेट संघ का घरेलू मैदान है।

पंजाब पुलिस अधिकारियों ने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए इसकी जांच चल रही है कि कहीं इसमें सट्टेबाजी गिरोह तो शामिल नहीं था और बीसीसीआई भी इसमें शामिल होने वाली की जानकारी हासिल करने के लिए इस पर नजर लगाए है। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने कहा कि उसे श्रीलंका में इस तरह की मैच की योजना की कोई जानकारी नहीं है। बीसीसीआई की भ्रष्टाचार रोधी इकाई के प्रमुख अजीत सिंह ने पीटीआई से कहा कि हमारी जांच प्रक्रिया जारी है। जब हम इसमें शामिल लोगों के बारे में जान जाएंगे, हम अपना डाटाबेस अपडेट कर देंगे। हम जानना चाहेंगे कि कौन इसमें शामिल थे। हालांकि केवल पुलिस ही इस पर कार्रवाई कर सकती है। बीसीसीआई एजेंसी के तौर पर यह हमारे अधिकार क्षेत्र में नहीं आता। 

टी-20 वर्ल्ड कप को लेकर टेंशन में दिखे माइकल हसी, कहा-इससे टीमों को दिक्कत होगी

उन्होंने कहा कि अगर यह बीसीसीआई से मान्यता प्राप्त लीग होती या फिर इसमें खिलाड़ियों की भागीदारी होती तो हम उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकते थे। अगर यह सट्टेबाजी के उद्देश्य से किया गया है तो यह अपराध है और यह पुलिस के अधिकार क्षेत्र में आता है, हम कुछ नहीं कर सकते। श्रीलंका क्रिकेट ने एक बयान में कहा कि न तो श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड और न ही इसकी मान्यता प्राप्त इकाई को 'यूवा प्रीमियर लीग टी-20' के नाम से हुए फंतासी टूर्नामेंट की जानकारी है और न ही कोई इसके आयोजन में शामिल है।

बयान के अनुसार, ''पता चला कि कई भारतीय वेबसाइट में 29 जून को स्कोरबोर्ड दिखाया गया था कि यूवा प्रीमियर लीग टी20 का मैच बादुला स्टेडियम में खेला जा रहा है लेकिन श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड यह पुष्टि करना चाहता है कि इस तरह का कोई टूर्नामेंट श्रीलंका में नहीं किया गया और न ही आयोजित किया जाएगा। श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एशले डि सिल्वा ने कहा कि उन्होंने भ्रष्टाचार रोधी अधिकारी को इस मामले को देखने को कहा है। श्रीलंका बोर्ड के बयान के मुताबिक, 'श्रीलंका क्रिकेट स्पष्ट करना चाहता है कि इस टूर्नामेंट को न तो श्रीलंका बोर्ड से या फिर इसकी मान्यता प्राप्त किसी इकाई से मंजूरी मिली, इसलिए श्रीलंका क्रिकेट इस टूर्नामेंट के संबंध में किसी तरह से जिम्मेदार नहीं है।' श्रीलंका क्रिकेट ने कहा कि उसने इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिये उचित कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है। 

धोनी के विकेट के पीछे रहने से गेंदबाजों को मिलती है मदद: कुलदीप यादव

श्रीलंका में यूवा प्रांतीय क्रिकेट संघ के सहायक सचिव भागीरधन बालाचंद्रन ने कहा कि उनकी संस्था इतनी सक्रिय नहीं है और किसी ने काफी खोजबीन के बाद यह किया है। बालाचंद्रन ने बादुला से भाषा से कहा कि हमारे संघ ने ऐसे किसी टूर्नामेंट को मंजूरी नहीं दी और न ही इसे आयोजित किया। हम इस मामले की जांच कर रहे हैं और श्रीलंका क्रिकेट से चर्चा कर रहे हैं। मोहाली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कुलदीप सिंह चहल ने कहा कि जांच चल रही है। उपाधीक्षक के पी सिंह ने कहा कि उन्हें इस मैच के बारे में ऑनलाइन शिकायत मिली थी। उन्होंने कहा कि गुरूवार रात को दो व्यक्तियों पंकज जैन और राजू को गिरफ्तार भी किया गया।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:BCCI on T20 near Chandigarh streamed as Sri Lanka Uva league match Would like to know who is involved