DA Image
5 जुलाई, 2020|7:03|IST

अगली स्टोरी

टेनिस मैच फिक्सिंग मामले में रवींद्र डांडीवाल पर नजर रख रही बीसीसीआई : एसीयू अध्यक्ष

bcci photo-ht

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की भ्रष्टाचार निरोधक इकाई (एसीयू) के प्रमुख अजित सिंह ने कहा कि हाल में पता चले अंतरराष्ट्रीय टेनिस मैच फिक्सिंग सिंडिकेट के कथित सरगना रवींद्र डांडीवाल पिछले चार वर्षों से बीसीसीआई की निगरानी सूची में हैं। सिडनी मॉर्निंग हेरल्ड की शनिवार की रिपोर्ट के अनुसार ऑस्ट्रेलिया में विक्टोरिया पुलिस ने टेनिस मैच स्कैंडल में डांडीवाल को मुख्य सरगना बताया है। टेनिस मैच फिक्सिंग में 2018 में कम से कम मिस्र और ब्राजील में खेली गयी दो प्रतियोगिताओं में कम रैकिंग के खिलाड़ियों को कथित तौर पर मैच हारने के लिए मनाया गया था।

अजित सिंह ने पीटीआई-भाषा से कहा, ''उस पर भ्रष्ट होने का संदेह है या फिर वह ज्ञात भ्रष्ट व्यक्ति है। मैं उसके (केवल) क्रिकेट संपर्कों के बारे में बात कर सकता हूं, लेकिन वह अन्य खेलों में भी घुस गया है। उसने अपनी खुद की लीग शुरू करने की कोशिश की और एक बार वह ऐसा कर लेता तो फिर वह जैसा चाहता उस तरह से मैच फिक्स कर लेता।''

VIDEO:ब्रावो ने शेयर किया धोनी के गाने का टीजर, दिखाया हेलीकॉप्टर सेलिब्रेशन डांस

उन्होंने कहा, ''उसने नेपाल में एशियाई प्रीमियर लीग का आयोजन किया और वह अफगान लीग से भी जुड़ा था। उसने हरियाणा में लीग के आयोजन का प्रयास किया, जिसे बीसीसीआई ने विफल कर दिया। इसलिए वह भारत के बजाय भारत के बाहर अधिक सक्रिय हो गया लेकिन वह पिछले कम से कम तीन-चार वर्षों से बीसीसीआई की निगरानी सूची में है।''

डांडीवाल मोहाली का रहने वाला है और एसीयू की शैक्षिक नियमावली में भी उसका जिक्र है। अजित सिंह ने कहा, ''बीसीसीआई ने भी उसके खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। वह अलग तरह का अपराध था। वह एक क्रिकेट टीम को लेकर ऑस्ट्रेलिया गया और वहां पांच-छह खिलाड़ी लापता हो गये। यह आव्रजन से जुड़ा मामला था।''

'कॉफी' पीते हुए केएल राहुल ने शेयर की फोटो, फैन्स ने कहा- करन जौहर को बुलाएं क्या 
   
उन्होंने कहा, ''इसलिए ऑस्ट्रेलिया के मेजबान क्लब ने संबंधित अधिकारियों से संपर्क किया और हमें जानकारी दी। हम मोहाली में पुलिस के पास गए और उन्हें बताया कि उसने क्या किया और रिपोर्ट दर्ज कराई। वह हमारी शिक्षा नियमावली का भी हिस्सा है। हम भागीदारों को उसके बारे में बताते हैं ओर उसकी तस्वीर दिखाकर उसके काम करने के तरीके के बारे में समझाते हैं।''

एसीयू प्रमुख ने फिर से दोहराया कि भारत में मैच फिक्सिंग कानून की सख्त जरूरत है क्योंकि अभी संबंधित एजेंसियों के हाथ बंधे हुए हैं। उन्होंने कहा, ''मैच फिक्सिंग के लिए कानून की जरूरत है। इससे संबंधित एजेंसियों को मजबूती मिलेगी और एक बार वे प्रभावशाली कार्रवाई करना शुरू कर देंगे इससे हमें (बीसीसीआई) मदद मिलेगी।''

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:BCCI keeping watch if Ravinder Dandiwal is trying to contact Indian players says ACU chief