DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विराट ने कहा- समय के हिसाब से बिजनेस और क्रिकेट को बैलेंस करना जरूरी

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली का मानना है कि क्रिकेट और विज्ञापनों में बैलेंस बनाना कोई मुश्किल काम नहीं है और विज्ञापनों पर ध्यान देने से क्रिकेट पर कोई बुरा असर नहीं पड़ता।

Virat Kohli

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली इन दिनों क्रिकेट से ब्रेक पर हैं। शनिवार को विराट दिल्ली में एक ब्रांड के लॉन्च में पहुंचे। इस दौरान उन्होंने उन बातों को खारिज किया कि विज्ञापनों पर ज्यादा समय बिताना एक क्रिकेटर के लिए ध्यान भंग करने वाला हो सकता है। विराट ने कई ब्रांड के विज्ञापन करते हैं और कुछ तो उनके खुद के ही ब्रांड हैं।

विराट ने कहा, 'जब मैं रोग्न (कपड़ों का उनका ब्रांड) से जुड़ा था तो मैं 25-26 साल का था। इसके बाद भी लोगों को लगता कि मैं 25 साल की उम्र में व्यवसाय से जुड़ रहा हूं और मैं इसके लिए बहुत कम उम्र का हूं।' उन्होंने कहा, 'पेशेवर खिलाड़ी के तौर पर व्यवसाय के लिए कोई उम्र की सीमा नहीं है क्योंकि आप जब भी व्यवसाय शुरू करते हो, आपको इसे बढ़ाना होता है। ये महज एक सोच है कि आपको एक विशेष उम्र के बाद ही व्यवसाय करना चाहिए। मैं इसमें विश्वास नहीं करता।'

ind vs wi 3rd T20: अगर ऐसा हुआ तो रोहित तोड़ देंगे विराट और धौनी की कप्तानी का खास Record

धौनी ने बताया कौन सी है उनकी फेवरेट बाइक, ऐसे बचते हैं मीडिया से

विराट ने कहा कि खिलाड़ी के लिए क्रिकेट और व्यावसयायिक हितों में संतुलन बनाना अहम होता है। उन्होंने कहा, 'मैं नहीं मानता कि आप खेलते हुए प्रायोजन नहीं कर सकते। मैं इन सबमें विश्वास नहीं रखता। अगर आपके पास सीमित समय है तो आपको पता होना चाहिए कि आप इस सीमित समय में अपने उत्पाद को कैसे आगे बढ़ा सकते हो।'

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:balancing cricketing and endorsements easily doable says indian captain virat kohli