फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटबाबर आमज और मोहम्मद रिजवान साथ में ओपनिंग नहीं कर सकते, संजय मांजरेकर ने पाकिस्तान की टीम को दी सलाह

बाबर आमज और मोहम्मद रिजवान साथ में ओपनिंग नहीं कर सकते, संजय मांजरेकर ने पाकिस्तान की टीम को दी सलाह

संयज मांजरेकर का मानना है कि बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान को साथ में पारी की शुरुआत नहीं करनी चाहिए। बाबर और रिजवान जारी टी20 विश्व कप में उम्मीद के मुताबिक बल्लेबाजी नहीं कर सके हैं।

बाबर आमज और मोहम्मद रिजवान साथ में ओपनिंग नहीं कर सकते, संजय मांजरेकर ने पाकिस्तान की टीम को दी सलाह
Himanshu Singhलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 13 Jun 2024 11:13 PM
ऐप पर पढ़ें

पाकिस्तान के कप्तान बबार आजम और सलामी बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान की सलामी जोड़ी को काफी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। अनुभवी बल्लेबाजों की जोड़ी को टीम अच्छी शुरुआत दिलाने में असफल रही है। भारत के पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने भी टी20 विश्व कप 2024 में बैटिंग अप्रोच को लेकर पाकिस्तान के सीनियर बल्लेबाजों बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान की आलोचना की है। टूर्नामेंट के शुरुआती दो मैचों में बाबर और रिजवान ने पारी की शुरुआत की। दोनों सलामी बल्लेबाज भारत के खिलाफ 120 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए जीत नहीं दिला सके। अमेरिका के खिलाफ भी ये दोनों कुछ कमाल नहीं दिखा सके। 

कनाडा के खिलाफ पाकिस्तान की जीत के बाद स्टार स्पोर्ट्स पर बात करते हुए संजय मांजरेकर ने कहा कि उन्हें खुशी है कि टीम ने शीर्ष क्रम में बदलाव किए हैं। पाकिस्तान ने अपने तीसरे ग्रुप-स्टेज गेम में बाबर आजम को नंबर 3 पर उतारकर सैम अयूब से ओपनिंग कराई।

संजय मांजरेकर ने कहा, ''मैं खुश हूं कि उन्होंने बैटिंग ऑर्डर में बदलाव किया। बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान एक साथ पारी की शुरुआत नहीं कर सकते। दोनों ही खिलाड़ी वास्तव में बड़ा शॉट खेलने के लिए उत्सुक नहीं थे। इसलिए उन्होंने किसी और को शीर्ष पर रखा। बाएं हाथ, दाएं हाथ का संयोजन इतनी बुरी बात नहीं है। इसलिए वहां कुछ अच्छी चीजें हो रही हैं।''

बांग्लादेश के बल्लेबाज तंजिद हसन के हेलमेट के ग्रिल में फंसी गेंद, बड़ा हादसा होने से टला, देखिए सांसें थाम देने वाला वीडियो

उन्होंने आगे कहा, ''बल्लेबाजी अब भी चिंता का विषय है। मोहम्मद आमिर अपनी क्षमता का परिचय दे रहे हैं। इसलिए मुझे लगता है कि वे आयरलैंड से बेहतर खेल पाएंगे। लेकिन एक बार वह सुपर-8 में गए, तो यह उनके लिए एक और तरह की अग्नि परीक्षा होगी क्योंकि वे कुछ अन्य टीमों की तरह अच्छे नहीं दिख रहे हैं जो इस दौर से गुजरी हैं।''