फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटअक्षर पटेल दिन का अंत ऐसे करेंगे इंग्लैंड ने सोचा नहीं होगा, आप भी देखिए ये वीडियो

अक्षर पटेल दिन का अंत ऐसे करेंगे इंग्लैंड ने सोचा नहीं होगा, आप भी देखिए ये वीडियो

ऑलराउंडर अक्षर पटेल ने दूसरे दिन के खेल का अंत जिस अंदाज में किया, उसके बारे में इंग्लैंड ने सोचा नहीं होगा। अक्षर पटेल ने आखिरी तीन गेंदों में कुल 14 रन बटोरे, जिसमें दो चौके और एक छक्का शामिल था। 

अक्षर पटेल दिन का अंत ऐसे करेंगे इंग्लैंड ने सोचा नहीं होगा, आप भी देखिए ये वीडियो
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 26 Jan 2024 09:00 PM
ऐप पर पढ़ें

टेस्ट मैच हो और दिन के खेल का आखिरी ओवर या कुछ ही गेंदें बाकी हों तो बल्लेबाज यही सोचेगा कि इन गेंदों को डिफेंस करके दिन के खेल का समापन किया जाए। हालांकि, भारतीय ऑलराउंडर अक्षर पटेल इसके विपरीत मानसिकता के साथ नजर आए। उन्होंने दिन के खेल का अंत जिस अंदाज में किया, उसके बारे में इंग्लैंड की टीम ने भी नहीं सोचा होगा। अक्षर पटेल ने दिन के खेल की आखिरी तीन गेंदों को बाउंड्री के पार पहुंचाया। 

दरअसल, हैदराबाद में भारत और इंग्लैंड के बीच जारी पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले के दूसरे दिन के खेल का समापन होना था। इंग्लैंड की तरफ से दिन का आखिरी ओवर टॉम हार्टले लेकर आए। हार्टले पहले ही इस मैच में 100 से ज्यादा रन लुटा चुके थे। हालांकि, उनको एक विकेट भी मिला, लेकिन उन्होंने ये नहीं सोचा होगा कि दिन के आखिर में भी उनकी ऐसी पिटाई होगी, जिसके बारे में उन्होंने सोचा नहीं होगा। 

रविंद्र जडेजा ने हैदराबाद में गेंद के बाद बल्ले से मचाया गदर, माइकल वॉन ने बताया उनको बेस्ट ऑलराउंडर

दूसरे दिन के आखिरी ओवर की चौथी गेंद को अक्षर पटेल ने सामने की तरफ चौके के लिए मारा। इससे पता चल गया कि भारतीय बल्लेबाज रुकने वाले नहीं हैं। अगली गेंद हार्टले ने अक्षर पटेल के आर्क में दी और अक्षर पटेल ने उस पर दमदार छक्का जड़ दिया। ऐसे में हर कोई सोचेगा कि अब दिन की आखिरी गेंद को डिफेंस किया जाए और अगले दिन के लिए अपना विकेट सुरक्षित रखा जाए, लेकिन अक्षर कहां रुकने वाले थे। 

बाएं हाथ के बल्लेबाज अक्षर पटेल ने दिन की आखिरी गेंद पर भी हवाई शॉट लगाया। हालांकि, छक्का नहीं मिला, लेकिन गेंद एक बाउंस खाकर बाउंड्री के पार चली गई। इस तरह वे 62 गेंदों में 5 चौके और एक छक्के की मदद से 35 रन बनाकर नाबाद लौटे। इंग्लैंड को इन छक्के-चौकों से अपनी बैजबॉल की याद आ गई होगी, क्योंकि इंग्लैंड की टीम शुरुआत से आखिर तक चौके-छक्के मारने में विश्वास रखती है और तेज गति से रन बनाती है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें