DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्टीव स्मिथ की हूटिंग पर बोला ACA- उनकी बहादुरी का सम्मान करें अपमान नहीं

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट संघ (एसीयू) ने जोफ्रा आर्चर के बाउंसर से पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ के गर्दन पर चोट लगने के बाद हुई हूटिंग की आलोचना करते हुए कहा कि खेल में अच्छे आचरण की जरूरत है।

steve smith jpg

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट संघ (एसीयू) ने जोफ्रा आर्चर के बाउंसर से पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ के गर्दन पर चोट लगने के बाद हुई हूटिंग की आलोचना करते हुए कहा कि खेल में अच्छे आचरण की जरूरत है। स्मिथ को दिन के दूसरे सत्र में आर्चर की गेंद पर चोटिल होने के कारण क्रीज छोड़नी पड़ी थी। उन्होंने हालांकि मैदान पर वापसी की और आखिर में 92 रन बनाकर पगबाधा आउट हुए। इस तरह से वह श्रृंखला में पहली बार शतक नहीं जमा पाए। यह स्टार बल्लेबाज तब 80 रन पर था, जब इंग्लैंड के तेज गेंदबाज आर्चर की 92.3 मील प्रति घंटे की रफ्तार से डाली गई बाउंसर गेंद उनकी कनपटी पर जा लगी। स्मिथ मुंह के बल नीचे गिर गए।

Read Also: Ashes 2019: आर्चर के स्पेल ने रिकी पोंटिंग को दिलाई 2005 की याद

जोफ्रा आर्चर की बाउंसर पर चोटिल हुए स्टीव स्मिथ
उन्होंने जो हेलमेट पहन रखा था उस पर गर्दन के बचाव की सुविधा नहीं थी। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने हेलमेट में इस तरह की व्यवस्था फिलिप ह्यूज की 2014 में सिडनी में एक घरेलू मैच के दौरान शीन एबॉट बाउंसर लगने से हुई मौत के बाद की गई थी। ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के चिकित्साकर्मियों ने स्मिथ का मैदान पर ही उपचार किया। इसके बाद वह उठ गए और उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई टीम के चिकित्सक रिचर्ड शॉ के साथ लंबी बातचीत के बाद रिटायर्ड हर्ट होने का फैसला किया। जब वह मैदान पर वापस लौट रहे थे तब कुछ दर्शकों ने उनकी हूटिंग की। गेंद से छेड़छाड़ मामले में एक साल की प्रतिबंध झेलने के बाद स्मिथ की यह पहली टेस्ट श्रृंखला है।

Read Also: Ashes 2019: स्टीव स्मिथ की चोट पर कोच जस्टिन लैंगर ने कही ये बात

चोटिल स्टीव स्मिथ की हूटिंग को एसीए ने बताया गलत         
ऑस्ट्रेलिया में क्रिकेट खिलाड़ियों की अगुवाई करने वाले संगठन एसीए ने कहा चोटिल खिलाड़ी के साथ ऐसा आचरण गलत है। एसीए के अध्यक्ष ग्रेग डायर और मुख्य कार्यकारी अधिकारी एलिस्टर निकोलसन ने संयुक्त बयान जारी कर कहा, 'क्रिकेट में इससे कहीं बेहतर आचरण की अपेक्षा की जाती है। लार्ड्स को क्रिकेट का मक्का कहा जाता है वहां इससे काफी बेहतर आचरण होना चाहिए था। हमने जो देखा वह एक युवा की बहादुरी थी जिसका अपमान नहीं, सम्मान किया जाना चाहिए था। इंग्लैंड में दर्शकों का आचरण शानदार रहा है लेकिन जब कोई चोटिल होता है तब हूटिंग नहीं किया जाना चाहिए थी।' मार्क टेलर और इयान हिली जैसे ऑस्टेलिया के दिग्गजों ने भी दर्शकों के इस आचरण को निराशाजनक बताया।

सभी खेलों से जुड़े समाचार पढ़ें सबसे पहले Live Hindustan पर। अपने मोबाइल पर Live Hindustan पढ़ने के लिए डाउनलोड करें हमारा न्यूज एप। और देश-दुनिया की हर खबर से रहें अपडेट।    

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Australian Cricketers Association condemned hooting of Steve Smith by English Audiences in Lords Test