फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटटेस्ट क्रिकेट में वापसी को बेताब ग्लेन मैक्सवेल, अब तक खेले हैं महज 7 मैच

टेस्ट क्रिकेट में वापसी को बेताब ग्लेन मैक्सवेल, अब तक खेले हैं महज 7 मैच

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के आलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल टेस्ट क्रिकेट में वापसी करना चाहते हैं। अगले साल भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली टेस्ट सीरीज में मैक्सवेल टेस्ट करियर में वापसी करेंगे।

टेस्ट क्रिकेट में वापसी को बेताब ग्लेन मैक्सवेल, अब तक खेले हैं महज 7 मैच
Abhishek MishraTeam Live Hindustan,DelhiFri, 05 Aug 2022 05:44 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

वनडे और T20I फॉर्मेट के बेहतरीन आलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल अपने टेस्ट करियर में वापसी करने को बेताब हैं। मैक्सवेल 2015 वर्ल्ड कप, पिछले साल टी-20 वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा रहे थे। मैक्सवेल अब अपने करियर में टेस्ट क्रिकेट के प्रति रुझान दिखाते हुए रेड बॉल फॉर्मेट यानी टेस्ट क्रिकेट में वापसी करना चाहते हैं। मैक्सवेल अगले साल की शुरुआत में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली टेस्ट सीरीज में वापसी करने उम्मीद में हैं। 

टेस्ट क्रिकेट में नहीं कर सके हैं कुछ खास 
मैक्सवेल ने अपने टेस्ट करियर की शुरुआत 2013 में भारत के खिलाफ की थी। उसके बाद उन्होंने अपने करियर में अब तक महज 6 टेस्ट मैच ही खेले हैं। पिछले महीने श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में ट्रैविस हेड की जगह ऑस्ट्रेलियाई टीम में मैक्सवेल को शामिल किया गया था। लेकिन ट्रैविस समय से पहले रिकवर हो गए और जिसके चलते मैक्सवेल को प्लेइंग इलेवन से बाहर ही रहना पड़ा। इस मसले के बाद मैक्सवेल अपने टेस्ट करियर में फिर से वापसी करने को बेताब हैं और मौके की तलाश में हैं। 
मैक्सवेल ने ESPNCricinfo से बात करते हुए कहा कि श्रीलंका  के खिलाफ टेस्ट में शामिल न हो पाने से उनकी इच्छा है कि वो जल्द ही टेस्ट क्रिकेट में वापसी करें। भारत के खिलाफ अगले साल की शुरुआत में होने वाली टेस्ट सीरीज पर उनकी नजर है। 

भारत के खिलाफ टेस्ट में मिल सकता है मौका 
श्रीलंका के खिलाफ न खेल पाने के बाद मैक्सवेल को टीम मैनेजमेंट से उम्मीद है कि उन्हें आगमी श्रृंखला में मौका मिलेगा। मैच में ट्रैविस का कोई खास प्रदर्शन न होने से भारत के खिलाफ टीम चयन में मैक्सवेल को मौका दिया जा सकता है। मैक्सवेल  ने अपने करियर के सभी 7 टेस्ट मैच एशिया में ही खेले हैं। भारतीय स्पिनर गेंदबाज जडेजा और अश्विन को खेलने का अनुभव टीम में उनके चयन को मजबूत करता है। मैक्सवेल को उम्मीद है कि अगले साल भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज से वो अपने टेस्ट करियर में बेहतर वापसी कर सकते हैं।

epaper