DA Image
हिंदी न्यूज़ › क्रिकेट › ऑस्ट्रेलिया की टीम ने एकसाथ मिलकर कुछ ऐसे किया टोक्यो ओलंपिक में मिचेल स्टार्क के भाई को चीयर
क्रिकेट

ऑस्ट्रेलिया की टीम ने एकसाथ मिलकर कुछ ऐसे किया टोक्यो ओलंपिक में मिचेल स्टार्क के भाई को चीयर

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Shubham Mishra
Mon, 02 Aug 2021 12:28 PM
ऑस्ट्रेलिया की टीम ने एकसाथ मिलकर कुछ ऐसे किया टोक्यो ओलंपिक में मिचेल स्टार्क के भाई को चीयर

ऑस्ट्रेलिया टीम के तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क क्रिकेट के मैदान पर अपनी खतरनाक गेंदबाजी के दम पर इंटरनेशनल क्रिकेट में अपनी एक अलग पचान बना चुके हैं। वहीं, स्टार्क के भाई ब्रेंडन स्टार्क भी टोक्यो ओलंपिक में देश का नाम रोशन करने में जुटे हुए हैं। मिचेल स्टार्क इन दिनों कंगारू टीम के साथ बांग्लादेश के दौरे पर हैं और वह साथी खिलाड़ियों के साथ मिलकर वहीं से अपने भाई को फाइनल में चीयर करते हुए नजर आए। सोशल मीडियो पर वायरल हो रही फोटो में स्टार्क समेत पूरी ऑस्ट्रेलियाई टीम प्रैक्टिस सेशन के बाद ब्रेंडन का हौसला बढ़ाते हुए दिख रहे हैं। 

IND vs ENG: इंग्लैंड टेस्ट सीरीज के लिए जसप्रीत बुमराह की अनोखी तैयारी, बैटिंग पैड पहनकर की गेंदबाजी- देखें PHOTO

दरअसल, वायरल हो रही फोटो में सभी खिलाड़ी एक जगह पर एकत्रित होकर ब्रेंडन स्टार्क के फाइनल मुकाबले का लुत्फ उठा रहे हैं। ब्रेंडन हाई जम्प में 2.8 मीटर की छलांग लगाते हुए ओलंपिक के फाइनल में पहुंचे थे। मिचेल स्टार्क के भाई का प्रदर्शन फाइनल में अच्छा रहा और उन्होंने 5वीं पोजीशन पर रहते हुए मैच को खत्म किया। कंगारू टीम को 3 अगस्त से बांग्लादेश के खिलाफ पांच मैचों की टी-20 सीरीज खेलनी है। आरोन फिंच की गैरमौजूदगी में इस सीरीज के लिए मैथ्यू वेड को टीम की कप्तानी सौंपी गई है। 

कुछ ऐसा रहा है ब्रेंडन स्टार्क का करियर: 

2010 के यूथ ओलंपिक खेलों में अपना डेब्यू किया और सिल्वर मेडल जीता। वहां उन्होंने 2.19 मीटर की छलांग लगाई थी, यह उनका व्यक्तिगत बेस्ट था। 2014 के कॉमनवेल्थ गेम्स में ब्रेंडन आठवें नंबर पर रहे। 2016 के रियो ओलंपिक के लिए भी उनका चयन हुआ। उन्होंने क्वालिफाइंग राउंड में अच्छा प्रदर्शन करते हुए फाइनल में जगह बनाई थी लेकिन अंत में वे 15वें नंबर पर रहे। 2017 में चोट के कारण वे वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए क्वालिफाई करने से चूक गए थे। लेकिन 2018 के कॉमनवेल्थ गेम्स में उन्होंने शानदार वापसी की और 2.32 मीटर की छलांग लगाकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया। उसी साल उन्होंने डायमंड लीग का फाइनल भी जीता। 2021 में उन्होंने 2.33 मीटर की छलांग लगाई और अपना चौथा नेशनल हाई जंप खिताब जीता। इसी के साथ ही उन्हें ओलंपिक का टिकट भी मिल गया। 
 

संबंधित खबरें