फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटAUS vs ENG: एशेज में इंग्लैंड के खराब प्रदर्शन का क्या है सबसे बड़ा कारण? इयान चैपल ने समझाया

AUS vs ENG: एशेज में इंग्लैंड के खराब प्रदर्शन का क्या है सबसे बड़ा कारण? इयान चैपल ने समझाया

ऑस्ट्रेलिया में इस बार एशेज सीरीज खेली जा रही है, पहले तीन टेस्ट मैच गंवाकर इंग्लैंड पहले ही सीरीज गंवा चुका है और बचे हुए दो टेस्ट मैचों में अब टीम अपनी प्रतिष्ठा बचाने के लिए खेलेगी। ऑस्ट्रेलिया के...

AUS vs ENG: एशेज में इंग्लैंड के खराब प्रदर्शन का क्या है सबसे बड़ा कारण? इयान चैपल ने समझाया
Namita Shuklaवार्ता,मेलबर्नMon, 03 Jan 2022 06:54 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

ऑस्ट्रेलिया में इस बार एशेज सीरीज खेली जा रही है, पहले तीन टेस्ट मैच गंवाकर इंग्लैंड पहले ही सीरीज गंवा चुका है और बचे हुए दो टेस्ट मैचों में अब टीम अपनी प्रतिष्ठा बचाने के लिए खेलेगी। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल ने समझाया है कि एशेज सीरीज के दौरान इंग्लैंड के खराब प्रदर्शन का सबसे बड़ा कारण क्या रहा है। चैपल ने कहा कि इसमें कोई शक नहीं कि टीम खराब तरह से चुनी गई और इसकी अगुवाई भी बहुत खराब ढंग से की गई है। चैपल का मानना है कि इंग्लैंड टेस्ट टीम में बड़े बदलाव की जरूरत है। 

चैपल ने क्रिकइंफो पर अपने कॉलम में लिखा, 'टेस्ट क्रिकेट आखिरकार आठ प्रमुख देशों के बीच होने वाले मैचों तक सीमित हो सकता है। भवष्यि में कभी-कभी अफगानिस्तान, बांग्लादेश, आयरलैंड और जिम्बाब्वे टेस्ट फॉर्मेट मैचों में शामिल नहीं होंगे। यह उन कारणों से कल्पना करना आसान है, जिनमें क्षमता की कमी के साथ-साथ घरेलू मैदान की सुविधाओं की कमी शामिल है। जब तक वेस्टइंडीज की वित्तीय स्थिति को मजबूत करने के लिए कुछ नहीं किया जाता, तब तक कैरेबियाई भागीदारी पर सवालिया निशान बना रहेगा। वेस्टइंडीज टेस्ट टीम को निचले स्तर पर ले जाने के लिए क्रिकेट पहल की कमी आलोचना का पात्र है।'

उन्होंने कहा, 'भारत ने साबित कर दिया है कि वे घर से दूर जीत सकते हैं और अब वह बेस्ट ऑलराउंड टीम है, जिनके पास खिलाड़ियों का एक बड़ा पूल है और इसमें कोई कारण नहीं है यह बदलना चाहिए, लेकिन बहुत कुछ इस बात पर निर्भर करेगा कि कप्तान विराट कोहली में टेस्ट क्रिकेट के लिए समान जुनून है या नहीं।' पूर्व कप्तान ने कहा, 'भवष्यि के युवा बल्लेबाजों की चिंता के बावजूद ऑस्ट्रेलिया हमेशा एक उचित टेस्ट देश रहेगा।'

epaper