फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटप्लेयर ऑफ द मैच बने अर्शदीप सिंह का कबूलनामा- पिछले दो मैचों में मैंने काफी रन लुटाए और इससे मैं खुश नहीं था

प्लेयर ऑफ द मैच बने अर्शदीप सिंह का कबूलनामा- पिछले दो मैचों में मैंने काफी रन लुटाए और इससे मैं खुश नहीं था

अर्शदीप सिंह ने इस बात को कबूल किया है कि पिछले दो मैचों में उन्होंने काफी रन लुटाए। इससे वे दुखी थे। यहां तक कि बाकी गेंदबाजी कम रन लुटा रहे थे, लेकिन अर्शदीप का रन रेट ज्यादा था। 

प्लेयर ऑफ द मैच बने अर्शदीप सिंह का कबूलनामा- पिछले दो मैचों में मैंने काफी रन लुटाए और इससे मैं खुश नहीं था
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 13 Jun 2024 08:50 AM
ऐप पर पढ़ें

T20 World Cup 2024 के ग्रुप स्टेज के पहले दो मैचों में भारतीय टीम के पेसर अर्शदीप सिंह काफी महंगे साबित हुए थे। यहां तक कि न्यूयॉर्क की पिच पर दो मैचों में उन्होंने 30 से ज्यादा रन लुटाए थे। हालांकि, पहले दो मैचों में तीन विकेट भी उन्होंने निकाले थे, लेकिन एक ऐसी पिच पर 24 गेंदों में 30 से ज्यादा रन देना सही नहीं था, जिस पर टोटल ही 110 के आसपास का बन रहा था। इसको लेकर अर्शदीप भी चिंतित थे, लेकिन तीसरे मैच में उन्होंने दमदार गेंदबाजी की और प्लेयर ऑफ द मैच अवॉर्ड हासिल किया। उन्होंने 4 ओवर में 9 रन देकर यूएसए के चार बल्लेबाजों को पवेल्यन भेजा। 

न्यूयॉर्क के नसाउ काउंटी इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में मेजबान यूएसए के खिलाफ मैच में प्लेयर ऑफ द मैच अवॉर्ड हासिल करने वाले अर्शदीप सिंह अपने प्रदर्शन से खुश नजर आए और उन्होंने पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन सेरेमनी में कहा, "प्रदर्शन से बहुत बहुत खुश हूं। पिछले दो मैचों में मैंने थोड़े ज्यादा रन दिए, इससे खुश नहीं था। टीम हमेशा मुझ पर भरोसा दिखाती है और मेरा समर्थन करती है, मुझे उनके लिए अच्छा प्रदर्शन करना था। विकेट तेज गेंदबाजों के लिए काफी मददगार है और इससे हमें सीम मूवमेंट पाने में मदद मिल रही है। योजना सरल थी, गेंद को विकेट पर पिच करें और गेंद को अपना काम करने दें।"

ये भी पढ़ेंः WI vs NZ Match: शेरफन रदरफोर्ड ने न्यूजीलैंड को दिखाई कैरेबियन पावर, आखिरी 2 ओवरों में कूट दिए 37 रन 

उन्होंने आगे अपने प्लान के बारे में बताया, "रन बनाने के लिए आसान गेंद नहीं देने का प्लान था। हमारे बल्लेबाजों को भी रन बनाने में मुश्किलें आ रही हैं। योजना हार्ड लेंथ पर गेंद फेंकने की थी। ऐसी परिस्थितियों में आप विकेट का ज्यादा इस्तेमाल कर सकते हैं। जब आप अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहे होते हैं, तो आपको कुछ रूटीन और अपने शरीर का ख्याल रखने की जरूरत होती है। सभी गेंदबाजों ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है, अगले चरण में भी ऐसा ही करने की उम्मीद है।" टीम इंडिया ने तीसरी जीत दर्ज करके टूर्नामेंट के सुपर 8 के लिए क्वॉलिफाई कर लिया है और एक मैच अभी भी ग्रुप स्टेज का बाकी है।