DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अनिल कुंबले की अध्यक्षता में टेस्ट क्रिकेट में 'TOSS' को मिला जीवनदान

Anil Kumble

अनिल कुंबले की अगुवाई वाली आईसीसी की क्रिकेट समिति ने टेस्ट क्रिकेट से टॉस की परम्परा को खत्म नहीं करने का निर्णय लिया है। टॉस को लेकर चर्चा के मुख्य बिंदुओं में से एक यह था कि क्या टेस्ट मैचों के दौरान घरेलू हालात के फायदे को कम करने के लिए टॉस (दौरा करने वाली टीम को चुनने का अधिकार मिले) को ख़त्म कर दिया जाए?
इस मुद्दे पर आईसीसी ने कहा, 'समिति ने चर्चा की कि क्या टॉस का अधिकार सिर्फ दौरा करने वाली टीम के सुपुर्द कर दिया जाए लेकिन बाद में महसूस किया गया कि यह टेस्ट क्रिकेट का अभिन्न हिस्सा है जो खेल की शुरुआत में मैच की भूमिका तय करता है।'

BCCI ने केंद्र सरकार को लिखी चिठ्ठी,पूछा-PAK से क्रिकेट खेल सकते हैं?

अनिल कुंबले की अध्यक्षता वाली इस समिति में माइक गैटिंग, माहेला जयवर्धने जैसे पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कप्तान, न्यूज़ीलैंड क्रिकेट टीम के कोच माइकल हेसन, पूर्व ऑस्ट्रेलियाई सलामी बल्लेबाज़ और मैच रैफरी डेविड बून भी शामिल थे। ये सब इस बात पर सहमत थे कि मेज़बान देश को विश्व टेस्ट चैंपियनशिप को ध्यान में रखते हुए बेहतर स्तर की पिचें तैयार करनी चाहिए। गौरतलब है कि टॉस को टेसट क्रिकेट से हटाया जाना एक विवादास्पद मुद्दा बन गया था, क्योंकि ज़्यादातर पूर्व खिलाड़ियों ने इसे नकारात्मक कदम बताया था।

खुशखबरी : देहरादून क्रिकेट स्टेडियम इंटरनेशनल मैचों के लिए तैयार, ICC ने दी मान्यता

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Anil Kumble Led ICC Committee decides to not remove the Tradition of Toss in Test Cricket