फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटएंजेलो मैथ्यूज नहीं थे 'टाइम्ड आउट', श्रीलंकाई खिलाड़ी ने ICC को दिया मैच का सबूत और पूछा ये सवाल

एंजेलो मैथ्यूज नहीं थे 'टाइम्ड आउट', श्रीलंकाई खिलाड़ी ने ICC को दिया मैच का सबूत और पूछा ये सवाल

एंजेलो मैथ्यूज बांग्लादेश के खिलाफ 'टाइम्ड आउट' नहीं थे। श्रीलंका के खिलाड़ी ने ICC को मैच का सबूत दिया है और बताया है कि वे दो मिनट से पहले क्रीज पर थे, लेकिन स्ट्रैप टूट गया तो वे क्रीज से हट गए।

एंजेलो मैथ्यूज नहीं थे 'टाइम्ड आउट', श्रीलंकाई खिलाड़ी ने ICC को दिया मैच का सबूत और पूछा ये सवाल
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 07 Nov 2023 08:53 AM
ऐप पर पढ़ें

बांग्लादेश और श्रीलंका के बीच हाल के दिनों में क्रिकेट के मैदान पर तीखी प्रतिद्वंद्विता देखने को मिली है। इसका जीता जागता उदाहरण सोमवार 6 नवंबर को दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में देखने को मिला, जब विश्व कप 2023 के एक लीग मैच के दौरान दोनों देशों के खिलाड़ियों के बीच तनातनी हो गई। पहले एंजेलो मैथ्यूज के टाइम्ड आउट होने पर और फिर बाद में हाथ ना मिलने पर बहस छिड़ी हुई है। इस बीच एंजेलो मैथ्यूज ने वो सबूत दिया है, जिसमें वे टाइम्ड के तरीके से आउट नहीं थे, क्योंकि वे समय पर क्रीज पर खड़े थे। 

एंजेलो मैथ्यूज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 'टाइम्ड आउट' होने वाले पहले बल्लेबाज बने। इससे दोनों टीमों के खिलाड़ियों के बीच काफी तीखी नोकझोंक हुई। कप्तान शाकिब अल हसन ने एक फील्डर के कहने पर मैदानी अंपायर से मैथ्यूज के टाइम्ड आउट (समय पर क्रीज पर नहीं पहुंचने की वजह से आउट) होने की अपील की। इसे अंपायर ने मजाक समझा, लेकिन शाकिब सीरियस थे और ऐसे में मैथ्यूज को आउट करार दे दिया गया। इस मसले पर मैथ्यूज ने 'एक्स' पर अपना सबूत दिया कि वे दो मिनट की समय सीमा से पहले क्रीज पर पहुंच गए थे।

मैथ्यूज ने आईसीसी के एक एक्स पोस्ट के जवाब में लिखा, "यहां चौथा अंपायर गलत है! वीडियो साक्ष्य से पता चलता है कि हेलमेट खराब होने से पहले भी मेरे पास 5 सेकेंड और थे! क्या चौथा अंपायर क्या इसे सुधार सकता है? मेरा मतलब है कि खिलाड़ी की सुरक्षा सर्वोपरि है, क्योंकि मैं हेलमेट के बिना गेंदबाज का सामना नहीं कर सकता था।" इसके बाद उन्होंने दो तस्वीरें शेयर कीं, जिनमें एक ये है कि खिलाड़ी कैच पकड़ रहा है और उसके दो मिनट के भीतर वे क्रीज पर थे, लेकिन गेंद खेलने से पहले उन्होंने अपने हेलमेट की स्ट्रैप को खींचा तो वो टूट गई।

इसी दौरान शाकिब और बांग्लादेश ने अपील की, जिसे मैदानी अंपायर ने सुना और उनको आउट करार दे दिया। वाकई में अगर ये सच है तो जाहिर तौर पर ये बड़ी चूक हुई है। इसके अलावा अगर खिलाड़ी क्रीज पर पहुंच गया है और उसका हेलमेट का स्ट्रैप टूट गया है तो कुछ सेकेंड का टाइम यहां बल्लेबाज को दिया जा सकता था। हालांकि, अंपायर और बांग्लादेश टीम के कप्तान इससे सहमत नहीं थे और उन्होंने टाइम्ड आउट के लिए अपील की और उन्हें पवेलियन वापस लौटना पड़ा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें