DA Image
7 जून, 2020|12:34|IST

अगली स्टोरी

इंडियन प्रीमियर लीग को लेकर केविन पीटरसन का साथ नहीं देने पर सालों बाद छलका एंड्रयू स्ट्रॉस का दर्द

पीटरसन ने अपनी आत्मकथा में 2014-15 में टीम से बाहर किए जाने का जिक्र करते हुए इसके लिए मैट प्रायर और स्टुअर्ट ब्रॉड पर निशाना साधते हुए स्ट्रॉस की भी आलोचना की थी।

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन का इंटरनेशनल करियर काफी विवादों भरा रहा है। इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर एंड्रयू स्ट्रॉस का मानना है कि उन्होंने केविन पीटरसन के मामले को ठीक तरह से हैंडल नहीं किया था। स्ट्रॉस का मानना है कि पीटरसन को अनुशासन का ठीक तरह से पालन नहीं करने के बावजूद मौका मिलना चाहिए थे। स्ट्रास ने हालांकि कहा कि वो इस बात को अच्छी तरह समझते हैं कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) खिलाड़ियों के लिए क्यों जरूरी है लेकिन अगर वे टेस्ट क्रिकेट की जगह आईपीएल को प्राथमिकता देंगे तो इससे गलत उदाहरण पेश होगा।

धोनी को गाली देने वाले वायरल वीडियो पर जानिए क्या बोले आशीष नेहरा

इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) की आईपीएल नीति को लेकर स्ट्रॉस और पीटरसन में काफी विवाद हुआ था। स्ट्रास ने स्काय स्पोर्ट्स से कहा, 'आईपीएल को लेकर केपी (पीटरसन) के साथ मेरी हमेशा सहानुभूति रही है।' उन्होंने कहा, 'मुझे समझ में आ गया था कि आईपीएल में दुनिया भर के बड़े खिलाड़ी एक साथ खेलते हैं और वहां खिलाड़ियों को बड़ी रकम दी जाती है।' खास बात यह है कि जब स्ट्रॉस ईसीबी के क्रिकेट डायरेक्टर बने थे तो उन्होंने इंग्लैंड के खिलाड़ियों के लिए आईपीएल में भाग लेने के लिए एक खास कार्यक्रम तैयार किया था, जिसकी पीटरसन ने सबसे लंबे समय तक वकालत की थी।

आशीष नेहरा ने कहा- धोनी जब आए थे तब बेस्ट विकेटकीपर नहीं थे, लेकिन...

'आईपीएल को लेकर ईसीबी से बात की थी'

उन्होंने कहा, 'मुझे काफी लंबे समय तक लगता था कि आईपीएल के लिए विंडो की जरूरत है। मैंने ईसीबी से कहा था कि हम एक दूसरे से प्रतिस्पर्धा नहीं कर सकते क्योंकि यह टीम के लिए बड़ी समस्या बन जाता।' पूर्व कप्तान ने कहा, 'इसके साथ ही मुझे यह भी लगा कि टेस्ट क्रिकेट को छोड़ कर खिलाड़ी को आईपीएल में खेलने की छूट देना काफी खतरनाक है। इससे आप युवा खिलाड़ियों को यह सीख दे रहे हैं कि आईपीएल टेस्ट क्रिकेट से ज्यादा जरूरी है।'

'मैंने पीटरसन को कई बार समझाया था'

स्ट्रॉस ने कहा कि उन्होंने पीटरसन को कई बार समझाया था कि टेस्ट क्रिकेट ज्यादा जरूरी है। उन्होंने कहा, 'मैं उस समय केपी से कह रहा था, 'सुनो, दोस्तों, यह स्थिति है। आप अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से बार-बार टीम में आने और जाने का विकल्प नहीं चुन सकते। आपको इंग्लैंड के लिए मिले दायित्व को निभाना होगा और मैं उम्मीद करूंगा कि आपको ऐसे अंतराल मिले जहां आईपीएल भी खेल सकते हैं।' पीटरसन ने अपनी आत्मकथा में 2014-15 में टीम से बाहर किए जाने का जिक्र करते हुए इसके लिए मैट प्रायर और स्टुअर्ट ब्रॉड पर निशाना साधते हुए स्ट्रॉस की भी आलोचना की थी। उन्होंने लिखा था कि स्ट्रॉस ने उनका समर्थन नहीं किया था।

(एजेंसी इनपुट के साथ)
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Always Had Sympathy With Him says Andrew Strauss On Kevin Pietersen Fallout from england cricket team for indian premier league ipl