फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटचीफ सिलेक्टर पोस्ट के लिए अजीत आगरकर ने किया अप्लाई, क्या BCCI बढ़ाएगा सैलरी?

चीफ सिलेक्टर पोस्ट के लिए अजीत आगरकर ने किया अप्लाई, क्या BCCI बढ़ाएगा सैलरी?

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) सीनियर मेंस सिलेक्शन कमिटी के चीफ सिलेक्टर की सैलरी बढ़ा सकता है। इस पोस्ट के लिए टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज अजीत आगरकर ने अप्लाई कर दिया है।

चीफ सिलेक्टर पोस्ट के लिए अजीत आगरकर ने किया अप्लाई, क्या BCCI बढ़ाएगा सैलरी?
ajit agarkar
Namita Shuklaवार्ता,मुंबईFri, 30 Jun 2023 05:49 PM
ऐप पर पढ़ें

इंडियन सीनियर मेंस सिलेक्शन कमिटी का नया चीफ सिलेक्टर कौन होगा, इस पर लगभग मुहर लग चुकी है। टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज अजीत आगरकर ने इस पोस्ट के लिए अप्लाई किया है और माना जा रहा है कि उनका चीफ सिलेक्टर बनना लगभग तय है। बीसीसीआई ने 22 जून को इस पोस्ट की भर्ती के लिए आवदेन मंगवाए थे। फरवरी में सिलेक्शन कमिटी के अध्यक्ष चेतन शर्मा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। उनके इस्तीफे के पीछे का कारण उस स्टिंग ऑपरेशन को बताया जाता है, जिसमें उन्होंने टीम इंडिया के कुछ स्टार क्रिकेटरों के बारे में काफी बातें कर डाली थीं। सिलेक्शन कमिटी में शामिल होने के लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख 30 जून थी, आगरकर ने इससे ठीक एक दिन पहले इस पद के लिए आवेदन किया।

अगर उन्हें इस पोस्ट के लिए चुना जाता है, तो भारत के लिए 26 टेस्ट और 191 वनडे खेलने वाले 45 वर्षीय आगरकर पैनल के सबसे अनुभवी सदस्य बन जाएंगे और इस तरह से वह चयनकर्ताओं के अध्यक्ष भी बन जाएंगे। हालांकि आगरकर की नियुक्ति के चलते सिलेक्शन कमिटी में वेस्ट जोन से दो चयनकर्ता हो जाएंगे। लेकिन यह अलग बात है कि बीसीसीसीआई ने अपने इश्तिहार में में यह कभी नहीं बताया था कि वह किसी खास क्षेत्र से उम्मीदवार की तलाश कर रहा है।

बाबर या विराट में कौन अच्छा? हरभजन के सवाल पर क्या बोल गए अख्तर

शिव सुंदर दास, एस सरथ और सुब्रतो बनर्जी अभी भारतीय सिलेक्शन कमिटी में हैं और इनमें से सबसे अधिक इंटरनेशनल अनुभव शिव सुदंर दास के पास है। उस हिसाब से फिलहाल शिव चीफ सिलेक्टर हैं।बीसीसीआई ज्यादातर किसी भी चीफ सिलेक्टर को दो साल का कार्यकाल देती है। हालांकि टी20 वर्ल्ड कप में जब भारत को सेमीफाइनल में हार मिली तो बीसीसीआई ने सिलेक्शन कमिटी के लिए नए आवेदन मंगवाए। यह अलग बात है कि बीसीसीआई एक बेहतर ऑप्शन की तलाश करने में फेल हो गया और चेतन को फिर से चयनकर्ताओं के अध्यक्ष के रूप में चुना गया। लेकिन जब स्टिंग ऑपरेशन के बाद उनका अपना पद छोड़ना पड़ा।

WC 2023 में कैसा होगा IND vs PAK मैच, आर अश्विन ने की भविष्यवाणी

भारत के लिए एक बड़ी चुनौती यह है कि चीफ सिलेक्टर्स को हर साल लगभग एक करोड़ रुपये से अधिक का भुगतान किया जाता है। कोई भी पूर्व क्रिकेटर आसानी से मीडिया में काम करके या फिर टी20 लीग में कोचिंग देकर इससे ज्यादा कमा लेता है। आगरकर खुद मीडिया का काम करने के अलावा आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स के कोचिंग स्टाफ का हिस्सा थे। दिल्ली कैपिटल्स के ट्विटर हैंडल ने 29 जून को घोषणा की कि आगरकर और शेन वॉटसन भी उनसे अलग हो गए हैं। आगरकर ने 2017 से 2019 तक घरेलू क्रिकेट में मुंबई के चयनकर्ताओं के अध्यक्ष के रूप में भी काम किया है। आगरकर वह कद और अनुभव लेकर आते हैं जिसकी बीसीसीआई को चयनकर्ताओं के संभावित अध्यक्ष के रूप में तलाश है, लेकिन यह देखना बाकी है कि क्या बोर्ड चयनकर्ताओं की सैलरी के बारे में एक बार फिर से समीक्षा करेगा।