फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटअजिंक्य रहाणे ने करियर में पहली बार की बच्चों जैसी गलती, जीवनदान मिला, लेकिन...

अजिंक्य रहाणे ने करियर में पहली बार की बच्चों जैसी गलती, जीवनदान मिला, लेकिन...

अजिंक्य रहाणे ने अपने क्रिकेटिंग करियर में पहली बार बच्चों जैसी गलती कर दी। वे असम के खिलाफ रणजी मैच में ऑब्स्ट्रक्टिंग द फील्ड के तौर पर आउट हो गए। उनको जीवनदान मिला, लेकिन वे फायदा नहीं उठा सके।

अजिंक्य रहाणे ने करियर में पहली बार की बच्चों जैसी गलती, जीवनदान मिला, लेकिन...
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 16 Feb 2024 08:00 PM
ऐप पर पढ़ें

रणजी ट्रॉफी 2024 में मुंबई की टीम की कप्तानी कर रहे अजिंक्य रहाणे ने एक ऐसी गलती कर दी, जिसे आमतौर पर नौसिखिया क्रिकेटर करता है। अजिंक्य रहाणे करियर में पहली बार ऑब्स्ट्रक्टिंग द फील्ड के तौर पर आउट हो गए। 16 साल से प्रोफेशनल क्रिकेट में एक्टिव रहाणे पहली बार ऑब्स्ट्रक्टिंग द फील्ड का शिकार हुए। ऐसा तब होता है, जब बल्लेबाज जानबूझकर रन आउट होने से बचने के चक्कर में थ्रो के सामने आए। अजिंक्य रहाणे को असम के खिलाड़ियों की अपील पर आउट दे दिया गया, लेकिन इसमें एक नया मोड़ भी आ गया। 

दरअसल, जब असम के खिलाड़ियों ने अपील की तो अंपायर ने उनको ऑब्स्ट्रक्टिंग द फील्ड नियम के मुताबिक आउट दे दिया। रहाणे ने भी इस फैसले को स्वीकार किया और वे मैदान छोड़कर चल दिए। हालांकि, बाद में असम की टीम के कुछ खिलाड़ियों और कप्तान देनिश दास ने अपील को वापस ले लिया और इस तरह रहाणे को फिर से बल्लेबाजी की अनुमति मिली, लेकिन रहाणे इस जीवनदान का फायदा नहीं उठा पाए। जब वे ऑब्स्ट्रक्टिंग द फील्ड के तौर पर आउट हुए तो 18 रन पर थे और जब क्लीन बोल्ड हुए तो सिर्फ 22 रन बना सके थे। 

बता दें कि अजिंक्य रहाणे इस समय खराब दौर से गुजर रहे हैं। भारत की टेस्ट टीम से बाहर चल रहे रहाणे ने आधा दर्जन के करीब मैच इस रणजी ट्रॉफी के सीजन में खेले हैं, लेकिन एक भी बड़ी पारी उनके बल्ले से नहीं निकली है। ऐसे में उनका हाल-फिलहाल में भारत की टेस्ट टीम में वापसी करना असंभव लग रहा है, क्योंकि दमदार लय में दिख रहे चेतेश्वर पुजारा भी कई खिलाड़ियों के चोटिल और टीम से हटने के बावजूद टेस्ट टीम में नहीं चुने गए हैं। चयनकर्ता युवा खिलाड़ियों को भरपूर मौका दे रहे हैं और युवा खिलाड़ी कमाल भी कर रहे हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें