फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटT20 World Cup 2024 के लिए परिवार के साथ अमेरिका गए थे पाकिस्तानी खिलाड़ी, 60 कमरे किए थे बुक

T20 World Cup 2024 के लिए परिवार के साथ अमेरिका गए थे पाकिस्तानी खिलाड़ी, 60 कमरे किए थे बुक

T20 World Cup 2024 के लिए पाकिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाड़ी परिवार के साथ अमेरिका गए थे। इसके लिए उनकी आलोचना हो रही है, क्योंकि बाबर आजम अपने माता-पिता और भाई को यूएस ले गए थे।  

T20 World Cup 2024 के लिए परिवार के साथ अमेरिका गए थे पाकिस्तानी खिलाड़ी, 60 कमरे किए थे बुक
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 22 Jun 2024 07:44 AM
ऐप पर पढ़ें

जब से पाकिस्तान की टीम का सफर टी20 वर्ल्ड कप 2024 से खत्म हुआ है, तभी से टीम को आलोचना का शिकार होना पड़ रहा है। खिलाड़ियों को प्रति नाराजगी और भी ज्यादा बढ़ती जा रही है। पाकिस्तान टीम के तमाम खिलाड़ी अपने परिवार के साथ यूएस गए थे, जिसके लिए उनकी आलोचना हो रही है। वहीं, पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड इन ‘अपुष्ट दावों और खबरों’ से निपटने के लिए एक नए मानहानि नियम का इस्तेमाल करने पर विचार कर रहा है। पाकिस्तान की टीम पहला मैच यूएसए और दूसरा मैच भारत से हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गई थी।  

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के अनुसार टी20 वर्ल्ड कप 2024 के लिए पाकिस्तान का 34 सदस्यों वाला दल अमेरिका गया था, लेकिन इनके अतिरिक्त करीब 26 से 28 सदस्य ऐसे भी थे, जो खिलाड़ियों के परिवारवाले थे, जो टीम होटल में ही रुके थे। इन सदस्यों में खिलाड़ियों की पत्नियां, बच्चे, माता-पिता और यहां तक कि भाई बहन भी शामिल थे। रिपोर्ट के अनुसार बाबर आजम, हारिस राउफ, शादाब खान, फखर जमान और मोहम्मद आमिर उन खिलाड़ियों में शामिल थे, जिनके परिवार के सदस्य उनके साथ अमेरिका गए थे। बाबर आजम शादीशुदा नहीं हैं, लेकिन उनके साथ उनके माता-पिता और भाई टीम होटल में रुके थे। 

साउथ अफ्रीका ने आखिरी 18 गेंदों में इंग्लैंड से ऐसे छीना मैच, देखती रह गई जोस बटलर की टीम  

एक अन्य रिपोर्ट में कहा गया है कि परिवार को ले जाने से जो अतिरिक्त खर्चा हुआ, उसका भुगतान निश्चित रूप से खिलाड़ियों द्वारा किया गया, लेकिन परिवार के सदस्यों के साथ होने से खिलाड़ियों के फोकस पर असर पड़ता है। एक और रिपोर्ट में कहा गया, 'टीम जहां रूकी थी, वहां टीम के साथ ट्रेवल कर रहे अन्य लोगों को ठहराने के लिए करीब 60 कमरे बुक किए गए थे। वहां पारिवारिक माहौल था, जिसमें कुछ खिलाड़ियों के लिए ‘टेक अवे डिनर’ और बाहर जाना सामान्य था।'

पाकिस्तान के पूर्व टेस्ट विकेटकीपर अतीक उज जमान ने कहा कि वह समझ सकते हैं कि खिलाड़ियों को ‘लो प्रोफाइल’ या द्विपक्षीय दौरों पर अपने साथ परिवार की जरूरत होती है, लेकिन विश्व कप जैसे बड़े टूर्नामेंट में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को इसकी अनुमति नहीं देनी चाहिए थी। अतीक उज जमान ने कहा, "विश्व कप में किसी भी परिवार को खिलाड़ियों के साथ जाने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए थी, क्योंकि खिलाड़ियों को क्रिकेट पर फोकस करने की जरूरत थी। जब आपके साथ परिवार होता है तो खिलाड़ियों का ध्यान और समय क्रिकेट से बंट जाता है।"

इतना ही नही, तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर तो अपने खर्चे पर अपने पर्सनल ट्रेनर को भी लेकर गए थे, जबकि टीम के पास विदेशी ट्रेनर, स्ट्रेंथ कंडिशनिंग कोच, फिजियो और डॉक्टर मौजूद था। उधर, पीसीबी अपुष्ट खबरों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई पर विचार कर रहा है। पीसीबी इस नए मानहानि कानून का इस्तेमाल डिजिटल और मुख्यधारा की मीडिया के खिलाफ करेगा जो विश्व कप में पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हें या फिर उनके बारे में व्यक्तिगत टिप्पणियां करते हैं।

पीसीबी के एक विश्वस्त सूत्र ने पीटीआई को बताया कि बोर्ड के विधि विभाग ने इस नए मानहानि कानून के अंतर्गत संभावित नोटिस पर काम करना भी शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा, "इन लोगों से उनके आरोप साबित करने को कहा जाएगा और इस नए मानहानि कानून के अंतर्गत ऐसा नहीं करने की स्थिति में कार्रवाई का सामना करना होगा।" पंजाब विधानसभा ने हाल ही में डिजिटल मीडिया और मानहानि कानून से संबंधित विधेयक पारित किया है, जिसके तहत यदि कोई डिजिटल पत्रकार या मीडियाकर्मी किसी उच्च पद पर आसीन व्यक्ति पर निराधार आरोप लगाता है या व्यक्तिगत हमला करता है तो दोषी पाए जाने पर उसे भारी जुर्माना और जेल भी हो सकती है।