फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटबेटे ने आंख पर एड़ी मार दी, जिससे रोशनी...एबी डिविलियर्स का इंटरनेशनल रिटायरमेंट पर हैरतअंगेज खुलासा

बेटे ने आंख पर एड़ी मार दी, जिससे रोशनी...एबी डिविलियर्स का इंटरनेशनल रिटायरमेंट पर हैरतअंगेज खुलासा

साउथ अफ्रीका के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज एबी डिविलियर्स ने जल्द इंटरनेशनल रिटायरमेंट लेने पर हैरतअंगेज खुलासा किया है। डिविलियर्स ने साल 2018 में इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था।

बेटे ने आंख पर एड़ी मार दी, जिससे रोशनी...एबी डिविलियर्स का इंटरनेशनल रिटायरमेंट पर हैरतअंगेज खुलासा
Md.akram लाइव हिंदुस्तान टीम,नई दिल्लीThu, 07 Dec 2023 07:39 PM
ऐप पर पढ़ें

साउथ अफ्रीका टीम के पूर्व कप्‍तान और '360 डिग्री प्‍लेयर' के तौर पर मशहूर रहे एबी डिविलियर्स ने नवंबर 2021 में सभी तरह के क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। वहीं, डिविलियर्स ने 2018 में इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट लिया। डिविलियर्स फिलहाल 39 साल के हैं लेकिन अनेक लोगों का मानना है कि उनका इंटरनेशनल करियर और लंबा चल सकता था। हालांकि, डिविलियर्स ने अब इस संबंध में एक हैरतअंगेज खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि वह करियर के अंतिम दो साल एक आंख की खराब रोशनी के साथ खेले हैं क्योंकि इंजरी हो गई थी।

बता दें कि डिविलियर्स ने 114 टेस्ट, 228 और 78 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले, जिसमें उन्होंने क्रमश: 8765, 9577 और 1672 रन बनाए।  डिविलियर्स ने  विजडन क्रिकेट मंथली से बातचीत के दौरान कहा, ''मेरे बेटे ने गलती से अपनी एड़ी मेरी आंख पर मार दी थी। मेरी दाहिनी आंख की रोशनी वाकई में खोने लगी थी। जब मैंने सर्जरी करवाई तो डॉक्टर ने मुझसे पूछा, 'तुम दुनियभर में इस तरह क्रिकेट कैसे खेलते हो?' किस्मत से मेरी बाईं आंख ने मेरे करियर के आखिरी दो सालों में अच्छा काम किया।"

उन्होंने कहा, ''कोविड ने निश्चित रूप से इसमें एक भूमिका निभाई, जिसमें कोई शक नहीं। अंतरराष्ट्रीय दृष्टिकोण से 2015 वर्ल्ड कप ने तगड़ा नुकसान पहुंचाया। उससे उबरने में मुझे थोड़ा समय लगा और फिर जब मैं टीम में वापस आया और प्रतिबद्ध होने के लिए तैयार था तो मुझे वो कल्चर महसूस नहीं हुआ, जिसकी मुझे उस समय वाकई जरूरत थी।''

डिविलियर्स ने आगे कहा, ''मैंने अक्सर खुद को यह सोचते हुए पाया कि मुझे नहीं पता? क्या यह मेरे करियर का अंत हो सकता है? मैं वाकई आईपीएल या कुछ और भी नहीं खेलना चाहता था। मैं 2018 में हर चीज से दूर हो गया और फिर एक बार टेस्ट क्रिकेट में आगे बढ़ने का फैसला किया। यहां भारत और ऑस्ट्रेलिया को हराने का प्रयास किया और सोचा उसके बाद फैसले की घोषणा कर दूंगा। मैं नहीं चाहता था कि मुझ पर कोई स्पॉटलाइट आए। मैं बस इतना कहना चाहता था कि मैंने बहुत अच्छा समय बिताया, आपका बहुत-बहुत शुक्रिया।"

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें