ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ छत्तीसगढ़रायपुर AIIMS के 33 इंटर्न सहित तीन चिकित्सक पॉजिटिव, राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज व जिला अस्पताल के 35 डॉक्टर भी संक्रमित

रायपुर AIIMS के 33 इंटर्न सहित तीन चिकित्सक पॉजिटिव, राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज व जिला अस्पताल के 35 डॉक्टर भी संक्रमित

छत्तीसगढ़ में ओमिक्रॉन के मरीज की पुष्टि के साथ कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना वॉरियर्स माने जाने वाले स्वास्थ्यकर्मी भी कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज के बाद अब...

रायपुर AIIMS के 33 इंटर्न सहित तीन चिकित्सक पॉजिटिव, राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज व जिला अस्पताल के 35 डॉक्टर भी संक्रमित
Sandeep Diwanलाइव हिन्दुस्तान ,रायपुर Thu, 06 Jan 2022 09:24 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

छत्तीसगढ़ में ओमिक्रॉन के मरीज की पुष्टि के साथ कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना वॉरियर्स माने जाने वाले स्वास्थ्यकर्मी भी कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज के बाद अब रायपुर एम्स के 33 इंटर्न संक्रमित हो गए हैं। इसमें 19 छात्र और 14 छात्राएं हैं। इसके अलावा तीन वरिष्ठ चिकित्सकों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई हैं। इंटर्न को संबंधित हॉस्टल में आइसोलेट कर दिया गया है। सभी इंटर्न की स्थिति सामान्य है। एम्स प्रबंधन ने ट्वीट कर इसकी जानकारी साझा की है। 

इधर राजनांदगांव जिले के मेडिकल कॉलेज में कोरोना विस्फोट हुआ है। शहर के मेडिकल कॉलेज अस्पताल और जिला अस्पताल में तीन दिनों में 35 डॉक्टर संक्रमित हो चुके हैं। सभी संक्रमित डॉक्टर मेडिकल कॉलेज व हॉस्पिटल में अपनी सेवाएं दे रहे थे। मेडिकल अस्पताल में भर्ती तीन रोगी भी डॉक्टरों के संपर्क में आने के बाद पॉजिटिव हो गए हैं। गुरुवार को भी मेडिकल अस्पताल के आठ जूनियर और इंटर्नी डॉक्टर पॉजिटिव मिले हैं। डॉक्टरों के संपर्क में आने के बाद भर्ती दो रोगी भी पॉजिटिव आए हैं। 

मेडिकल कॉलेज अस्पताल और जिला अस्पताल में कोरोना के वारियर्स मानें जाने वाले डॉक्टरों के संक्रमित होने से दोनों ही अस्पताल में हड़कंप की स्थिति है। गायनिक और रेडियोलाजी डिपार्टमेंट के अलावा जूनियर व इंटर्नी डॉक्टरों के संक्रमितों होने से यहां भर्ती रोगियों में दहशत का माहौल है। इधर मुंगेली जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के कार्यालय के पांच स्वास्थ्य कर्मी पॉजिटिव मिल चुके हैं।अपनी जान जोखिम में डालकर मरीजों का उपचार करते हुए प्रदेश में 50 से ज्यादा चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित हो चुके हैं।

epaper