ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News छत्तीसगढ़हर क्लास में टॉप करती थी छात्रा, इस बार 12वीं में मिले सिर्फ 63% अंक, निराश होकर की फांसी लगाकर आत्महत्या

हर क्लास में टॉप करती थी छात्रा, इस बार 12वीं में मिले सिर्फ 63% अंक, निराश होकर की फांसी लगाकर आत्महत्या

छत्तीसगढ़ के रायपुर में हर बार की तरह इस बार भी कक्षा में टॉप नहीं कर पाने से नाराज 12वीं की छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। 

हर क्लास में टॉप करती थी छात्रा, इस बार 12वीं में मिले सिर्फ 63% अंक, निराश होकर की फांसी लगाकर आत्महत्या
Rohit Burmanलाइव हिन्दुस्तान,रायपुरTue, 21 May 2024 02:29 PM
ऐप पर पढ़ें

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में 12वीं कक्षा की छात्रा के सुसाइड करने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक 12वीं में कम नंबर आने की वजह से नाराज छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। मृतक छात्रा का नाम वसुंधरा बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि बोर्ड रिजल्ट के बाद से ही छात्रा काफी परेशान थी, जिस वजह से उसने यह कदम उठाया है। 

जानकारी के मुताबिक छात्रा को हमेशा से ही अच्छे अंक मिलते थे। लेकिन इस बोर्ड परीक्षा के एग्जाम में उसका परिणाम अच्छा नहीं आया। बताया जा‌रहा है की छात्रा को 12वीं में सिर्फ 63% अंक मिले थे। जिस वजह से 17 साल की वसुंधरा बारले ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। बताया जा रहा है कि छात्रा ने देर रात कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी की है। परिजनों की माने तो उनकी बेटी 12वीं के रिजल्ट के बाद से बेहद परेशान थी। वह बार-बार यह कहती थी कि उसे उम्मीद से कम अंक मिले हैं। 

यह घटना छत्तीसगढ़ के विधानसभा थाना क्षेत्र के ग्राम संकरी की बताई जा रही है। छत्तीसगढ़ में यह कोई पहला मामला नहीं है कि जब बोर्ड परीक्षा में परिणाम आने के बाद बच्चों ने खुदकुशी की है। इससे पहले भी जांजगीर चांपा में ही ऐसी घटनाएं सामने आई थी। 10वीं और 12वीं में परिणाम खराब आने के बाद बच्चों की आत्महत्या का यह करीब 11वां मामला है। वहीं दूसरी तरफ बोर्ड परीक्षा के परिणाम से आहत बच्चे कोई गलत कदम ना उठाएं इसे लेकर बोर्ड की तरफ से भी हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया था। बच्चों को समझाइए दी गई थी कि वह परिणाम से दुखी होकर कोई गलत कदम ना उठाएं। इसके बावजूद प्रदेश में इस तरह की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं।