ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News छत्तीसगढ़राधिका खेड़ा ने छोड़ी कांग्रेस, रामलला के दर्शन की वजह से अपमान का दावा; इस्तीफे में क्या-क्या कहा

राधिका खेड़ा ने छोड़ी कांग्रेस, रामलला के दर्शन की वजह से अपमान का दावा; इस्तीफे में क्या-क्या कहा

कांग्रेस प्रवक्ता राधिका खेड़ा ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। कुछ दिनों पहले ही उन्होंने पार्टी पर महिलाओं के अपमान का आरोप लगाया था। 

राधिका खेड़ा ने छोड़ी कांग्रेस, रामलला के दर्शन की वजह से अपमान का दावा; इस्तीफे में क्या-क्या कहा
Aditi Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,रायपुरSun, 05 May 2024 07:18 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव के बीच अब छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। यहां से कांग्रेस प्रवक्ता राधिका खेड़ा ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। कुछ दिनों पहले ही उन्होंने पार्टी पर महिलाओं के अपमान का आरोप लगाया था। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे को सौंपे अपने इस्तीफे में कहा है कि वह अयोध्या जाने से खुद को रोक नहीं तो पार्टी में उनका विरोध होने लगा और जब उन्होंने इंसाफ मांगा तो उन्हें वो भी देने से इनकार कर दिया गया। 

उन्होंने कहा कि उन्होंने बार-बार शीर्ष नेताओं को उनके अपमान के बारे में बताया लेकिन इसके बावजूद उन्हें न्याय नहीं मिला। इसी बात से आहत होकर उन्होंने कांग्रेस छोड़ने का फैसला लिया। उन्होंने अपने इस्तीफे में लिखा, मैंने जिस पार्टी को अपने 22 साल से ज्यादा दिए, जहां एनएसयूआई से लेकर एआईसीसी के मीडिया विभाग में पूरी ईमानदारी से काम किया, आज लहां ऐसे ही तीव्र विरोध का सामना मुझे करना पड़ा है, क्योंकि मैं अयोध्या में राम लला के दर्शन करने से खुद को रोक नहीं पाई।

बता दें, हाल ही में राधिका खेड़ा ने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म एक्स पर एक पोस्ट कर पार्टी में महिलाओं के अपमान का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था,  कौशल्या माता के मायके में बेटी सुरक्षित नहीं है। पुरुषवादी मानसिकता से ग्रसित लोग आज भी बेटियों को पैरों तले कुचलना चाह रहे हैं।  खुलासा करूंगी !!


इसके बादल उन्होंने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी निशाना साधा था। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर राधिका खेड़ा ने लिखा कि ‘दुशील’ को लेकर ‘कका’ का मोह, एक लड़की की इज्जत से बढ़कर है। लेकिन लड़की हूं, लड़ रही हूं, मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम जी के ननिहाल में दीदी का स्वागत है। कौशल्या माता के मायके में बेटी सुरक्षित नहीं है। पुरुषवादी मानसिकता से ग्रसित लोग आज भी बेटियों को पैरों तले कुचलना चाह रहे हैं।  खुलासा करूंगी।”

इससे पहले मंगलवार को कांग्रेस के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे की जांजगीर चांपा जिले में सभा हुई। सभा के बाद मीडिया से बयान देने को लेकर उपजे विवाद के दौरान प्रदेश कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में राधिका खेड़ा प्रदेश के स्थानीय नेता और प्रवक्ताओं के साथ थीं। प्रदेश कांग्रेस संचार प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला और  राधिका खेड़ा के बीच कुछ बातों को लेकर तीखी बहस हुई। इतना ही नहीं बात तू-तू, मैं-मैं तक आ गई।

बताया जा रहा है कि विवाद बढ़ने से राधिका खेड़ा राजीव भवन से रोते हुए बाहर निकल गईं और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म परअपनी व्यथा सुनाई। राधिका खेड़ा ने पार्टी से इस्तीफा देने तक की बात कह डाली। राज्य की सत्तारूढ भारतीय जनता पार्टी ने विपक्षी दल पर तंज कसते हुए कहा है कि महालक्ष्मी वंदन की बात करने वाली पार्टी महिलाओं का सम्मान नहीं करती है।

एजेंसी से इनपुट