ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News छत्तीसगढ़अब जाल में फंसने वाला है सौरभ चंद्राकर! महादेव ऐप केस में ईडी का बड़ा ऐक्शन, 6 खास लोगों के यहां छापेमारी

अब जाल में फंसने वाला है सौरभ चंद्राकर! महादेव ऐप केस में ईडी का बड़ा ऐक्शन, 6 खास लोगों के यहां छापेमारी

Mahadev app ED action: नेहरू नगर ईस्ट निवासी दीपक सावलानी निगम का बड़ा ठेकेदार है। वो काफी लंबे समय से भिलाई और हाल ही में बने रिसाली निगम में शासकीय काम ठेके पर लेकर करता रहा है।

अब जाल में फंसने वाला है सौरभ चंद्राकर! महादेव ऐप केस में ईडी का बड़ा ऐक्शन, 6 खास लोगों के यहां छापेमारी
Devesh Mishraलाइव हिंदुस्तान,रायपुरMon, 16 Oct 2023 03:27 PM
ऐप पर पढ़ें

Mahadev app, Saurabh Chandrakar, ED action: महादेव ऐप से पांच हजार करोड़ रुपए से अधिक की ठगी करने वाला सौरभ चंद्राकर अब जल्द ही पुलिस की गिरफ्त में आ सकता है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने महादेव ऐप ठगी केस में बड़ा ऐक्शन लिया है। ईडी ने मास्टरमाइंड सौरभ के भारत में 6 खास लोगों पर ऐक्शन लिया है। ये सभी लोग किसी न किसी रूप से पैसों की लेनदेन को लेकर सौरभ से जुड़े हुए थे। इनमें से एक तो उसका बिजनेस पार्टनर बताया जा रहा है जो काले धन को सफेद धन बनाने का काम करता था।

ईडी की टीम ने छत्तीसगढ़ के भिलाई में एक साथ कई जगहों पर छापेमारी की है। सोमवार को ईडी के अफसरों की टीम भिलाई-तीन के पटाखा कारोबारी सुरेश धिंगानी, सट्टा किंग सौरभ चंद्राकर के बिजनेस पार्टनर दीपक सावलानी सहित 6 लोगों के घरों पर जांच को पहुंची। ईडी के अधिकारी सभी से पूछताछ कर रहे हैं। ईडी के अधिकारी सुबह करीब छह बजे पटाखा कारोबारी सुरेश धिंगानी के पदुम नगर भिलाई-3 स्थित निवास पहुंचे। वहां पर सुरेश धिंगानी और उसके बेटे विवेक (बंटी) धिंगानी से पूछताछ शुरू की है।

इन लोगों के ठिकानों पर छापेमारी
जानकारी के मुताबिक, सुरेश धिंगानी के समधी व चावल कारोबारी सुरेश कुकरेजा के उत्सव भवन के पास सुंदर नगर स्थित घर पर भी ईडी की टीम पहुंची है। इसके साथ ही नेहरू नगर ईस्ट निवासी दीपक सावलानी और उसके भाई गिरीश सावलानी के घर पर भी ईडी के अधिकारी पहुंचे। दीपक सावलानी सट्टा किंग सौरभ चंद्राकर का बिजनेस पार्टनर है और उसके काले धन को विभिन्न व्यवसाय में लगाकर उसे सफेद करने का काम कर रहा था। इनके अलावा ईडी के अधिकारी सत्यम जींस, दूल्हे राजा कपड़ा दुकान के संचालक विकास बत्रा और भरत मेडिकल स्टोर सुपेला के संचालक भरत रावलानी के घर पर भी पहुंची है। सभी से हवाला के माध्यम से की जा रही मनी लांड्रिंग की जांच की जा रही है।

नेहरू नगर ईस्ट निवासी दीपक सावलानी निगम का बड़ा ठेकेदार है। वो काफी लंबे समय से भिलाई और हाल ही में बने रिसाली निगम में शासकीय काम ठेके पर लेकर करता रहा है। दीपक को सौरभ चंद्राकर का बिजनेस पार्टनर बताया जा रहा है। नेहरू नगर में सौरभ चंद्राकर की एक संपत्ति है, जहां पर कुछ महीने पहले तक चौपाटी चल रही थी। दीपक सावलानी चौपाटी में सौरभ चंद्राकर का पार्टनर था और जूस फैक्ट्री में भी साझेदार है।

प्रारंभिक जांच में पता चला है कि दीपक सावलानी ने जयदीप नाम से पासपोर्ट बनवाया था और दुबई गया था। वो करीब सालभर सौरभ चंद्राकर के साथ दुबई में रहा और वहां से वापस लौटकर उसके काले धन को अलग-अलग बिजनेस में निवेश कर रहा था। दीपक सावलानी के भाई गिरीश सावलानी की आकाशगंगा सुपेला में राम ट्रेडर्स नाम की मोबाइल की दुकान है। ईडी के अधिकारी सभी से पूछताछ कर रहे हैं। ऐसे में यह माना जा रहा है कि ईडी के इस ऐक्शन के बाद तमाम नई जानकारियां सामने आ सकती हैं।

इनपुट- संदीप दीवान