ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News छत्तीसगढ़महादेव सट्टा मामले पर एक्शन में ED, पश्चिम बंगाल, दिल्ली एनसीआर और मुंबई समेत 15 ठिकानों पर पड़े छापे

महादेव सट्टा मामले पर एक्शन में ED, पश्चिम बंगाल, दिल्ली एनसीआर और मुंबई समेत 15 ठिकानों पर पड़े छापे

करोड़ों के महादेव सट्टा ऐप घोटाले मामले को लेकर बुधवार को ED ने पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र और दिल्ली एनसीआर समेत 15 ठिकानों पर छापा मारा है। महादेव सट्टा  मामले में ED लंबे समय से जांच कर रही है।

महादेव सट्टा मामले पर एक्शन में ED, पश्चिम बंगाल, दिल्ली एनसीआर और मुंबई समेत 15 ठिकानों पर पड़े छापे
Rohit Burmanलाइव हिन्दुस्तान,रायपुरWed, 28 Feb 2024 01:24 PM
ऐप पर पढ़ें

छत्तीसगढ़ का चर्चित महादेव सट्टा ऐप मामले को लेकर एक बार फिर से प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने छापे की कार्रवाई की है। इस बार ED ने दिल्ली एनसीआर, पश्चिम बंगाल और मुंबई में रेड मारी है। ED ने यहां करीब 15 ठिकानों पर छापे मारने के बाद कार्यवाही कर रही है। बतादे कि महादेव सट्टा ऐप‌‌ से करोड़ों रुपए की अवैध कमाई के मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने कार्यवाही करते हुए अब तक नौ लोगों को जेल भेजा चुकी है। वही इस पूरे मामले में मुख्य आरोपी सौरभ चंद्राकर और रवि उप्पल को जल्द भारत लाने की तैयारी की जा रही है। 

बता दें कि महादेव सट्टा ऐप मामले को लेकर ईडी पिछले करीब डेढ़ साल से छापे और आरोपियों से पूछताछ के बाद उन्हें जेल भेजने का काम कर किया है। छत्तीसगढ़ से पनपे इस महादेव ऑनलाइन सट्टा ऐप के मामले में कार्यवाही करते हुए नौ लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। वहीं इस पूरे मामले को लेकर दर्जनों लोगों से पूछताछ की जा चुकी है। आज बुधवार को पश्चिम बंगाल, मुंबई और दिल्ली एनसीआर समेत 15 ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय की टीम का छापा पड़ा है। माना जा रहा है कि छत्तीसगढ़ में इस मामले में पिछले 11 दिन पहले ईडी की गिरफ्त में आए नीतीश दीवान से पूछताछ के बाद कई अन्य लोगों के नाम सामने आए हैं। नीतीश दीवान की पूछताछ के आधार पर ईडी ने इन जगहों पर छापा मारा है।

वहीं दूसरी तरफ महादेव सट्टा ऐप मामले में ऐप के संचालक सौरभ चंद्राकर और रवि उप्पल दुबई में इंटरपोल की कस्टडी में हैं। यह दोनों को भारत सरकार ने इंटरपोल की मदद से दुबई में गिरफ्तार किया था। जिन्हें भारत लाने की लगातार प्रक्रिया पूरी की जा रही है। यही वजह है कि बीते जनवरी माह में ईडी ने इस मामले को लेकर कोर्ट‌ में पूरक परिवाद पेश किया था।‌ माना जा रहा है कि इस पूरक परिवाद पेश करने के बाद दोनों को भारत लाने की जो प्रक्रिया है वह तेज हो गई है।

200 करोड़‌ की शाही शादी थी चर्चा में 

बतादे कि महादेव सट्टा ऐप मामले के प्रमोटर्स सौरभ चंद्राकर उस वक्त खूब चर्चा में आया था जब उसने दुबई में अपनी शादी में 200 करोड़ खर्च किए। सौरभ चंद्राकर की शादी में बॉलीवुड की कई बड़ी हस्तियां मंच पर परफॉर्म करने के लिए पहुंची हुई थी। सूत्रों की माने तो दुबई पहुंचे बहुत से बॉलिवुड कलाकारों को कैस में उनकी फीस दी गई थी। जिसकी सूचना के बाद‌ बहुत से लोगों को ईडी की टीम ने समन भेजकर दफ्तर बुलाया‌ था। वही इस मामले को लेकर कई बॉलीवुड हस्तियों से भी पूछताछ की जा चुकी है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें