DA Image
Thursday, December 9, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ छत्तीसगढ़40% महिलाओं को टिकट का फॉर्मूला चला तो छत्तीसगढ़ की 25 सीटों पर कांग्रेस को  देना पड़ेगा नया चेहरा

40% महिलाओं को टिकट का फॉर्मूला चला तो छत्तीसगढ़ की 25 सीटों पर कांग्रेस को  देना पड़ेगा नया चेहरा

रायपुर, लाइव हिंदुस्तान टीमDeepak
Wed, 20 Oct 2021 01:02 PM
40% महिलाओं को टिकट का फॉर्मूला चला तो छत्तीसगढ़ की 25 सीटों पर कांग्रेस को  देना पड़ेगा नया चेहरा

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए 40 प्रतिशत टिकट महिलाओं को देने के प्रियंका गांधी के ऐलान के बाद छत्तीसगढ़ कांग्रेस में भी सियासी हलचल बढ़ने लगी है। साथ ही नए राजनीतिक समीकरण बनने भी शुरू हो गए हैं। 2023 के अंत में यहां विधानसभा चुनाव होना है, लेकिन टिकट के इस फॉर्मूले ने दिग्गज नेताओं की नींद उड़ा दी है। कई टिकट कटने की स्थिति में नई जगह की तलाश का गुणा-भाग लगाने भी लगे हैं। 

वैसे, पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का यह ऐलान अगर छत्तीसगढ़ में लागू होता है तो कांग्रेस को प्रदेश की 90 में से 36 विधानसभा सीटों पर महिला उम्मीदवार उतारने पड़ेंगे। मौजूदा विधानसभा में कांग्रेस के पास 11 महिला विधायक हैं। इस लिहाज से अगर मौजूदा सभी विधायक को अगले चुनाव में रिपीट भी किया जाता हो तो 25 और सीटों पर महिला प्रत्याशियों को टिकट देना पड़ेगा।

हालांकि, 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने छ्त्तीसगढ़ में 33% महिलाओं को टिकट देने पर जोर दिया था, लेकिन राजनीतिक समीकरणों की वजह से कांग्रेस ने 27 विधानसभा सीटों की जगह सिर्फ 13 सीटों पर महिलाओं को मौका दिया। इसमें 11 महिलाओं ने जीत दर्ज की। 90 सदस्यीय विधानसभा में अभी भाजपा और कांग्रेस की कुल 12 महिला विधायक हैं।
 
महिलाओं की जीत का औसत बेहतर
2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस में महिलाओं की जीत का औसत पुरुषों की तुलना में बेहतर रहा है। कांग्रेस ने 13 महिलाओं को मौका दिया था, जिनमें 10 ने जीत दर्ज की। दंतेवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में हुए उपचुनाव में यह संख्या बढ़कर 11 हो गई। पार्टी शेष 77 विधानसभा सीटों में पुरुषों का मौका दिया गया, जिनमें 59 सीटों पर पुरुषों ने जीत दर्ज की। इससे पहले वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 10 महिलाओं को टिकट दिया था।

भाजपा ने 14 महिला प्रत्याशियों को दिया मौका
2018 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने 14 विधानसभा क्षेत्रों पर महिला उम्मीदवार उतारे, लेकिन उन्हें सिर्फ एक सीट पर ही जीत मिली। भारतीय जनता पार्टी के शासनकाल में मंत्री रहीं महिलाएं भी चुनाव हार गईं। मौजूदा  विधानसभा में अभी दंतेवाड़ा, सारंगढ़, सिहावा, संजारी बालोद, पंडरिया, खुज्जी, तखतपुर, कसडोल, धरसीवा, बैकुंठपुर, डौंडीलोहारा सीट से कांग्रेस की महिला विधायक हैं।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें