ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ छत्तीसगढ़तेज रफ्तार बस ने पिकअप को ठोका, दर्जनभर से अधिक लोग घायल, गुस्साए ग्रामीणों ने बस में लगा दी आग

तेज रफ्तार बस ने पिकअप को ठोका, दर्जनभर से अधिक लोग घायल, गुस्साए ग्रामीणों ने बस में लगा दी आग

छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले के लोरमी अंतर्गत साल्हेघोरी गांव में बस और पिकअप मालवाहक (छोटा हाथी) के बीच जबरदस्त भिड़ंत हो गई। इस दुर्घटना में दर्जनभर से अधिक लोगों को गंभीर चोटें आई हैं। घायलों को...

तेज रफ्तार बस ने पिकअप को ठोका, दर्जनभर से अधिक लोग घायल, गुस्साए ग्रामीणों ने बस में लगा दी आग
Sandeep Diwanलाइव हिन्दुस्तान ,रायपुर Sat, 04 Dec 2021 03:47 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले के लोरमी अंतर्गत साल्हेघोरी गांव में बस और पिकअप मालवाहक (छोटा हाथी) के बीच जबरदस्त भिड़ंत हो गई। इस दुर्घटना में दर्जनभर से अधिक लोगों को गंभीर चोटें आई हैं। घायलों को संजीवनी 108 की मदद से लोरमी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया, जहां गंभीर रूप से घायल आठ लोगों को बेहतर उपचार के लिए बिलासपुर रेफर कर दिया गया। दुर्घटना के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने बस को आग के हवाले कर दिया। ग्रामीणों का आरोप है कि बस चालक तेज रफ्तार वाहन चला रहा था। पुलिस ने मामले को विवेचना में लिया है। 

मिली जानकारी की मुताबिक यह दुर्घटना लोरमी तहसील के साल्हेघोरी गांव के पास हुई है। रैंबो ट्रेवल्स की यात्री बस लोरमी से डिंडोरी की ओर तेज रफ्तार से जा रही थी। इस दौरान चालक का बस से नियंत्रण खो गया और सामने से आ रहे पिकअप मालवाहक से टकरा गया। हादसे में बस में सवार 8 यात्री और पिकअप सवार 4 लोग घायल हो गए। ग्रामीणों की मदद से घायलों को संजीवनी 108 की मदद से अस्पताल भेजा गया। इसके बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने बस के कांच को तोड़ दिया और बस को आग के हवाले कर दिया। फिलहाल लोरमी पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

हादसे के बाद मच गई थी चीख-पुकार 
बताया जाता है कि बस की ठोकर से पिकअप सवार हथकेरा गांव निवासी लोग इधर-उधर गिर गए। हादसे के बाद चीख-पुकार मच गई थी। हादसे में दर्जनभर से अधिक लोगों को गंभीर रूप से चोटें आई है, जिसमें छोटे-छोटे बच्चे भी शामिल हैं। अस्पताल में भर्ती मरीजों की स्थिति पर डॉक्टर दिनेश साहू ने बताया कि 13 मरीज अस्पताल में भर्ती हुए हैं। इनमें से 8 मरीजों को गंभीर स्थिति में बिलासपुर अस्पताल रेफर किया गया है।