ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News छत्तीसगढ़छत्तीसगढ़ में आंधी-तूफान ने मचाया कहर, 100 से ज्यादा पेड़ गिरे, रायगढ़ में 20 घंटे से बिजली बंद 

छत्तीसगढ़ में आंधी-तूफान ने मचाया कहर, 100 से ज्यादा पेड़ गिरे, रायगढ़ में 20 घंटे से बिजली बंद 

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में शनिवार देर शाम तेज आंधी तूफान आया। इस वजह से कई जगहों पर बिजली के पोल के टूट गए। रायगढ़ शहर सहित पूरे जिले में बिजली की आपूर्ति चरमरा गई है। पानी की सप्लाई भी प्रभावित हुई।

छत्तीसगढ़ में आंधी-तूफान ने मचाया कहर, 100 से ज्यादा पेड़ गिरे, रायगढ़ में 20 घंटे से बिजली बंद 
Subodh Mishraवार्ता,रायगढ़Sun, 02 Jun 2024 06:14 PM
ऐप पर पढ़ें

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में शनिवार देर शाम आए तेज आंधी तूफान से कई जगहों पर बिजली के पोल के टूटने और पेड़ों की डालियों के बिजली के तारों पर टूट कर गिरने से रायगढ़ शहर सहित पूरे जिले में बिजली आपूर्ति की व्यवस्था चरमरा गई। इससे पानी का संकट भी खड़ा हो गया है। आंधी तूफान से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुई है।

शनिवार देर शाम रायगढ़ जिले में आए आंधी तूफान ने बिजली विभाग के प्री मानसून तैयारियों की पोल खोल दी है। शाम सात बजे से बिजली व्यवस्था चरमराई हुई है। भीषण गर्मी में बिजली न होने से लोगों का बुरा हाल है। घरों में पानी का संकट भी खड़ा हो गया है। पिछले 20 घंटे से बिजली के अभाव के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। जिलाधिकारी कार्तिकेया गोयल ने जल्द व्यवस्थाएं ठीक करने के निर्देश दिए हैं।

बिजली विभाग कल रात से ही सप्लाई बहाल करने में जुटा हुआ है। सीएसईबी के एसई मनीष तनेजा ने बताया कि आंधी तूफान से रायगढ़ शहर में करीब 35 से 40 फीडर से बिजली सप्लाई बाधित हुई। करीब 20 से अधिक बिजली के पोल गिर गए हैं। कई जगहों पर पेड़ बिजली की तारों पर गिर गए हैं, जिससे तारें भी टूट गई हैं।

उन्होंने बताया कि रायगढ़ शहर के साथ आसपास के ग्रामीण इलाकों कोड़ा तराई, किरोड़ीमल नगर, तमनार, लैलूंगा में भी कुछ जगहों पर पोल गिरे हैं। सभी जगहों पर मरम्मत का काम चल रहा है। उन्होंने बताया कि रायगढ़ शहर में छह फीडर को छोड़ कर बाकी जगहों पर सप्लाई शुरू कर दी गई है। अभी करीब 70 लोगों की टीम बिजली व्यवस्था बहाल करने में जुटी हुई है। जहां तार टूट गए थे उन्हें जोड़ा जा रहा है। चक्रधर नगर, पॉलीटेक्निक के सामने, टीवी टावर रोड पर अधिक संख्या में पेड़ गिरे हैं जिन्हें हटाने और गिरे हुए बिजली पोल के मरम्मत का काम चल रहा है। पुसौर, कोड़ातराई, तमनार सहित ग्रामीण इलाकों में अलग से टीमें काम कर रही हैं। ठेकदारों की तीन टीम भी लगाई गई है। उन्होंने कहा कि रविवार शाम तक पूरी बिजली व्यवस्था बहाल कर ली जाएगी।

नगर निगम आयुक्त सुनील चंद्रवंशी ने बताया कि शहर में अलग-अलग स्थानों पर 100 से अधिक पेड़ गिरे हैं। इन्हें पिछली रात से ही बिजली विभाग के साथ नगर निगम की टीम हटा रही है। एसडीएम प्रवीण तिवारी और तहसीलदार लोमस मिरी भी बिजली विभाग की टीम के साथ लगातार प्रभावित इलाकों में जाकर वहां बिजली व्यवस्था बहाल करवाने में जुटे हैं।

Advertisement