ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News छत्तीसगढ़हड़ताल पर वन विभाग के कर्मचारी, जंगल में लगी भीषण आग, बुझाने पहुंचे सरगुजा सीसीएफ और दो डीएफओ

हड़ताल पर वन विभाग के कर्मचारी, जंगल में लगी भीषण आग, बुझाने पहुंचे सरगुजा सीसीएफ और दो डीएफओ

छत्तीसगढ़ में वन कर्मचारी 21 मार्च से हड़ताल पर हैं और जंगलों की सुरक्षा दांव पर लगी है। अफसर जल्द हड़ताल खत्म होने दावा कर रहे हैं, लेकिन कर्मचारी अब अड़े हैं। वनों की सुरक्षा भगवान भरोसे है।

हड़ताल पर वन विभाग के कर्मचारी, जंगल में लगी भीषण आग, बुझाने पहुंचे सरगुजा सीसीएफ और दो डीएफओ
लाइव हिन्दुस्तान,रायपुरThu, 31 Mar 2022 11:04 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

छत्तीसगढ़ में वन कर्मचारी 21 मार्च से हड़ताल पर हैं और जंगलों की सुरक्षा दांव पर लगी है। अफसर जल्द ही हड़ताल खत्म होने दावा कर रहे हैं, लेकिन वन कर्मचारी अब भी जिद पर अड़े हैं। ऐसे में जंगल और वन्य प्राणियों की सुरक्षा भगवान भरोसे है। भारतीय वन सर्वेक्षण की रिपोर्ट के आंकड़ों के अनुसार प्रदेश के 10 हजार 536 से अधिक जगहों पर आग लगी है। जंगलों में लगी आग से वन्य प्राणी झुलसने लगे हैं और जंगल से बाहर निकल रहे हैं। बुधवार की शाम छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के भरतपुर के सोनवाही गांव में शेर घुस आया, जिससे ग्रामीणों में दहशत रही। 

जंगलों में आग लगने का सीजन 15 फरवरी से 15 जून तक हर साल होता है। वन कर्मचारी वेतन, पेंशन, पदोन्नति और अन्य मुद्दों को लेकर हड़ताल पर हैं। उनके हड़ताल पर चले जाने से जंगलों में लगी आग तेजी से फैल रही है। आग बुझाने वाला भी कोई नहीं है। वन विभाग के उच्च अफसर लगातार जंगलों का दौरा भी कर रहे हैं। सरगुजा के मुख्य वन संरक्षक अनुराग श्रीवास्तव भी वन मंडलाधिकारियों के साथ वन क्षेत्र का दौरे पर निकले थे। रास्ते में जंगल में लगी आग को देखा तो वे खुद आग बुझाने में जुट गए। मुख्य वन संरक्षक श्रीवास्तव ने सरगुजा के लुण्ड्रा परिक्षेत्र के हाथी प्रभावित क्षेत्र में महुआ एकत्र कर रहे ग्रामीणों को वनों को आग से बचाने की बात कही। अफसरों ने बलरामपुर के राजपुर परिक्षेत्र में लगी आग को बुझाया। इस दौरान डीएफओ सरगुजा पंकज कमल तथा डीएफओ बलरामपुर विवेकानंद झा भी उपस्थित रहे।  

टोल फ्री नंबर 18002337000 पर दें सूचना 
आगजनी की घटनाओं की सूचना देने के लिए वन विभाग ने टोल फ्री नंबर जारी किया है। वन विभाग ने प्रधान मुख्य वन संरक्षक कार्यालय अरण्य भवन रायपुर में कंट्रोल रूम बनाया है। विभाग द्वारा जारी टोल फ्री नंबर 18002337000 पर कोई भी व्यक्ति आगजनी की सूचना दे सकता है। वहीं सभी वनमंडलों में भी वनों की सुरक्षा के लिए कंट्रोल रूम बनाए गए हैं, जहां से निगरानी की जा रही है। प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं वन बल प्रमुख राकेश चतुर्वेदी ने  विभाग के अधिकारियों को वनों में आगजनी की घटना रोकने आवश्यक निर्देश दिए हैं।

Advertisement