ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News छत्तीसगढ़कोयला घोटाला मामले में EOW की रेड, कोरबा माइनिंग ऑफिस में चल रही जांच

कोयला घोटाला मामले में EOW की रेड, कोरबा माइनिंग ऑफिस में चल रही जांच

छत्तीसगढ़ में कोयला घोटाले मामले को लेकर ईडी के बाद अब ईओडब्ल्यू की टीम ने कोरबा माइनिंग ऑफिस में रेड मारी है।‌ बताया जा रहा है कि EOW की टीम पिछले 24 घंटे से दस्तावेजों को खंगाल रही है। 

कोयला घोटाला मामले में EOW की रेड, कोरबा माइनिंग ऑफिस में चल रही जांच
Rohit Burmanलाइव हिन्दुस्तान,रायपुरThu, 06 Jun 2024 08:28 PM
ऐप पर पढ़ें

छत्तीसगढ़ में कोयला घोटाले के मामले में जांच कर रही ईओडब्ल्यू की टीम ने कोरबा माइनिंग ऑफिस में रेड‌ मारी है। ED की रेड‌ के बाद अब छत्तीसगढ़ में ईओडब्ल्यू की टीम माइनिंग ऑफिस में रेड की कार्रवाई कर पिछले 24 घंटे से दस्तावेज खंगालने का काम कर रही है बताया जा रहा है कि ईओडब्ल्यू के ऑफिसर साल 2020 से लेकर 2022 तक के दस्तावेजों की एक बार फिर से जांच कर रहे हैं। ईओडब्ल्यू की टीम के द्वारा कोरबा माइनिंग ऑफिस में रेड‌ की कार्रवाई के बाद एक बार फिर से छत्तीसगढ़ में ब्यूरोक्रेसी के बीच हड़कंप मच गया है।

बतादे कि छत्तीसगढ़ में 540 करोड रुपए के कोयले घोटाले की जांच में सबसे पहले ED ने कई बड़े खुलासे किए थे।‌ ईडी‌ के खुलासे के बाद ही कोयले घोटाले का बड़ा मामला छत्तीसगढ़ से निकलकर सामने आया था। इसमें कोल परिवहन में 540 करोड रुपए की लेवी के मामले में पूर्व सीएम की उपसचिव रही सौम्या चौरसिया, निलंबित आईएएस रानू साहू, समीर बिश्नोई सहित इस खेल के मास्टरमाइंड सूर्यकांत तिवारी आज जेल में है। अब एक बार फिर कोयले घोटाले मामले की जांच ईओडब्ल्यू पिछले कई दिनों से कर रही है। इस मामले को लेकर ईओडब्ल्यू की टीम जेल में बंद आरोपियों से लगातार पूछताछ कर रही है। बताया जा रहा है कि कोल स्कैम में आरोपियों से पूछताछ के बाद ईओब्लू की टीम को कई अहम जानकारी मिली है। इस जानकारी के बाद कई अधिकारियों को निशाने में लेकर EOW की टीम जांच कर रही है।

पिछले 24 घंटे से ज्यादा वक्त से चल रही कार्रवाई

जानकारी के मुताबिक कोयले घोटाले मामलों में जेल में बंद आरोपियों से पूछताछ के बाद ईओडब्ल्यू की टीम को कई अहम सबूत मिले थे। जिसके बाद बिलासपुर ईओडब्लू की टीम ने कोरबा में दबिश दी है। बताया जा रहा है कि बुधवार से ही बिलासपुर ईओडब्ल्यू की टीम कोरबा कलेक्ट्रेट स्थित खनिज विभाग के दफ्तर में डेरा डाली हुई है। जानकारी के अनुसार माइनिंग ऑफिस में साल 2020 से लेकर साल 2022 तक के कोल परिवहन से जुड़े हुए सभी दस्तावेजों को खंगालने का काम चल रहा है। इन दस्तावेजों को खंगाल कर कोल मामले से जुड़े हुए अहम फाइल की तलाश की जा रही है। बताया जा रहा है कि पूरा विभाग इस फाइल को खोजने में जुटा हुआ है। पिछले 24 घंटे से ज्यादा वक्त से कोरबा माइनिंग ऑफिस में ईओडब्ल्यू के डीएसपी रैंक के अधिकारी जांच में जुटे हुए हैं।