ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News छत्तीसगढ़नारायणपुर में जवानों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़, 2 माओवादी ढेर, जिले में मौजूद थे सीएम साय

नारायणपुर में जवानों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़, 2 माओवादी ढेर, जिले में मौजूद थे सीएम साय

छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले के अबूझमाड़ में जवानों और नक्सलियों के बीच जमकर मुठभेड़ हुई है। इस गोलीबारी में 2 नक्सली मारे गए है। वहीं दूसरी तरफ सीएम साय‌ भी जिले के दौरे पर थे। 

नारायणपुर में जवानों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़, 2 माओवादी ढेर, जिले में मौजूद थे सीएम साय
Rohit Burmanलाइव हिन्दुस्तान,रायपुरSat, 03 Feb 2024 09:45 PM
ऐप पर पढ़ें

छत्तीसगढ़ में एक बार फिर शनिवार को जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई है। नारायणपुर जिले के अबूझमाड़ में जवानों ने नक्सलियों पर गोलीबारी करते हुए 2 नक्सलियों को ढेर कर दिया है। वही जवानों ने दोनों नक्सलियों के शव को भी बरामद किया है। मुठभेड़ में मारे गए यह दोनों नक्सली की अब तक पहचान नहीं हो पाई है। वहीं घटना स्थल से जवानों को 2 रायफल भी मिला है, जिसे जप्त कर लिया गया है। 

बतादें कि अबूझमाड़ के गोमागाल जंगल में जवानों की टीम हमेंशा कि तरह सर्चिंग के लिए नकली हुई थी। जंगल के अंदर जैसे ही जवानों की टीम जाने लगी उन्हें नक्सलियों के होने की आहट मिली। जिसके बाद जवानों ने सतर्कता बरतते हुए नक्सलियों को घेरना शुरु कर दिया। वहीं दूसरी तरफ जैसे ही नक्सलियों को जवानों के आने की भनक मिली उन्होंने अंधाधुंध फारयरिंग करना शुरु कर दिया। जवाब में जवानों ने भी नक्सलियों पर गोली चलाई है। घंटों तक चली इस गोलीबारी के बाद नक्सली उल्टे पैर भाग गए। वहीं जब जवानों ने इलाके में सर्चिंग की तो घटना स्थल से दो नक्सलियों के शव के साथ 2 रायफल भी बरामद किया है।  

आज नारायणपुर दौरे पर थे सीएम साय

वहीं आज छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय का नारायणपुर का दौरा था। सीएम के दौरे को ध्यान में रखते हुए आज सुरक्षा के मद्देनजर अतरिक्त पुलिस बल की तैनाती भी की गई थी। इसके साथ ही इलाके में हर नक्सली मूवमेंट पर नजर रखा जा रहा था। 

30 जनवरी को शहीद हुए थे 3 जवान तो दूसरी तरफ नक्सलियों ने किया था आत्मसमर्पण

सुकमा में तीन हार्डकोर नक्सलियों ने खुद को जवानों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। नक्सलियों ने सरकार की नई पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर ये कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि वो आतंक के रास्ते पर भटक गए थे। अब वो समाज की मुख्यधारा में शामिल होकर चलना चाहते हैं। वहीं आपको बता दें कि 30 जनवरी को अबूझमाड़ के जंगलों में सुकमा और बीजापुर के इलाके में नक्सली मुठभेड़ में 3 जवान शहीद हो गए थे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें